न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज ल्यूक रॉन्की ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है. 36 वर्षीय रॉन्की ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत 2008 में ऑस्ट्रेलिया के लिए की थी. उन्होंने 2008-09 में ऑस्ट्रेलिया के लिए 4 वनडे और तीन टी20 मैच खेले.

इसके बाद 2013 में रॉन्की ने अपने देश न्यूजीलैंड के लिए अपने करियर का आगाज किया और न्यूजीलैंड की तरफ से 85 वनडे, 32 टी20 खेले. रॉन्की 2015 के वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचने वाली न्यूजीलैंड टीम में शामिल थे. रॉन्की अंतर्राष्ट्रीय से संन्यास के बाद वेलिंगटन और दुनिया भर की अन्य घरेलू टी20 लीगों में खेलते रहेंगे. वह जल्द ही नेटवेस्ट टी20 ब्लास्ट में लीसेस्टरशायर के लिए खेलते नजर आएंगे.अपने संन्यास का ऐलान करते हुए रॉन्की ने कहा, ‘न्यूजीलैंड के लिए खेलना सपना सच होने जैसा था. 2015 वर्ल्ड कप सबसे बेहतरीन पलों में से था.’

रॉन्की का वनडे में औसत 23.67 रहा लेकिन उनका स्ट्राइक रेट 114.50 का था, टी20 में भी उनका औसत 18.89 और टी20 में 141.33 रहा. रॉन्की को विस्फोटक बल्लेबाज के तौर पर जाना जाता है. उन्होंने हाल ही में खेली गई चैंपियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 43 गेंदों में 65 रन की जोरदार पारी खेली थी लेकिन बारिश ने न्यूजीलैंड से जीत छीन ली.

उनके इंटरनेशनल करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी 2014 में डुनेडिन में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए वनडे में 99 गेंदों में 170 रन की धमाकेदार नाबाद पारी रही. इसके बाद उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में अपने डेब्यू टेस्ट में 88 और 31 रन का पारियां खेली थीं, जिसकी बदौलत न्यूजीलैंड ने विदेशी धरती पर अपनी पांचवी जीत दर्ज की थी.

रॉन्की ने अपने करियर में 4 टेस्ट मैचों में 319 रन बनाए, जिनमें दो अर्धशतक शामिल थे, उनका उच्चतम स्कोर 88 रन था. उन्होंने न्यूजीलैंड के लिए खेले अपने 85 वनडे मैचों में 23.67 की औसत से 1397 रन बनाए, जिनमें 4 अर्धशतक और एक शतक शामिल हैं, उनका स्ट्राइक रेट 114.50 रहा. उन्होंने अपने 32 अंतर्राष्ट्रीय टी20 में 359 रन बनाए, जिसमें उनकी औसत 18.89 और स्ट्राइक रेट 141.33 रही. टी20 में उन्होंने एक हाफ सेंचुरी जड़ी.