नई दिल्ली : न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन वनडे में भारत को बड़ी हार का सामना करना पड़ा. वनडे सीरीज के चौथे मैच में न्यूजीलैंड ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 8 विकेट से जीत हासिल की. अहम बात यह है कि उसने महज 88 गेंदों में ही यह मैच अपने नाम कर लिया. भारत पहले बैटिंग करते हुए 92 रन पर ऑलआउट हो गया. इसके जवाब में न्यूजीलैंड ने 2 विकेट खोकर मैच जीत लिया. यह सीरीज में उसकी पहली जीत है.

हैमिल्टन में भारत ने न्यूजीलैंड को जीत के लिए 93 रन का लक्ष्य दिया. इसके जवाब में टीम के लिए मार्टिन गुप्टिल और हैनरी निकोलस ओपनिंग करने आए. गुप्टिल ने पारी के पहले ओवर में छक्के से शुरुआत की. इसके बाद लगातार दो चौके भी जड़े. लेकिन फिर 14 रन के निजी स्कोर पर आउट होकर पवेलियन लौट गए. जबकि निकोलस 30 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे. कप्तान केन विलियमसन 11 रन बनाकर आउट हुए. रोस टेलर 25 गेंदों में 37 रन बनाकर नाबाद रहे. उन्होंने 3 छक्के और 2 चौके भी जड़े.

टीम इंडिया 92 रन पर हुई ऑलआउट, हैमिल्टन वनडे में लगा ‘दाग’

भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 2 विकेट झटके. उन्होंने 5 ओवर में 25 रन दिए. जबकि एक मेडन ओवर भी निकाला. इसके अलावा किसी भी गेंदबाज को विकेट नहीं मिला.

टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी भारतीय टीम महज 92 रन पर ऑलआउट हो गई. कप्तान रोहित शर्मा 7 रन बनाकर आउट हुए. जबकि शिखर धवन 13 रन बनाकर पवेलियन लौटे. शुभमन गिल ने डेब्यू मैच खेला. उन्होंने 9 रन का योगदान दिया. जबकि अनुभवी खिलाड़ी अंबाती रायडू और दिनेश कार्तिक बिना खाता खोले पवेलियन लौटे. केदार जाधव 1 रन बनाकर पवेलियन लौटे. हार्दिक पांड्या ने 20 गेंदों में 16 रन बनाए. भारत की इस पारी में सर्वाधिक 18 रन युजवेन्द्र चहल ने बनाए. चहल नाबाद भी रहे. कुलदीप 15 रन बनाकर आउट हुए.

हैमिल्टन में हाहाकार… भारतीय बल्लेबाजों ने एक-दूजे से कहा- तू चल मैं आया यार!

न्यूजीलैंड के लिए ट्रेंट बोल्ट ने शानदार गेंदबाजी की. उन्होंने 10 ओवर में महज 21 रन देकर 5 विकेट झटके. जबकि 4 मेडन ओवर भी निकाले. कॉलिन डी ग्रांडहोम ने 10 ओवर में 26 रन देकर 3 विकेट झटके. उन्होंने भी 2 मेडन ओवर फेंके. जेम्स नीशम और टोड एस्टल को एक-एक सफलता हाथ लगी.