नई दिल्ली : न्यूजीलैंड ने भारत के खिलाफ टी-20 सीरीज की शुरुआत बड़ी जीत के साथ की है. टीम ने बुधवार को वेस्टपैक स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 मैच में भारत को 80 रनों से करारी शिकस्त दी. इसी के साथ न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है. यह भारत की टी-20 में रनों के लिहाज से अभी तक की सबसे बड़ी हार है. इससे पहले भारत को रनों के लिहाज से सबसे बड़ी हार आस्ट्रेलिया ने ब्रिजटाउन में सात मई 2010 को 47 रनों से मात देकर दी थी.

न्यूजीलैंड के लिए इस मैच में सब कुछ अच्छा रहा. भारत ने टॉस जीतकर उसे पहले बल्लेबाजी करने बुलाया और मेजबान टीम ने 20 ओवरों में छह ओवरों में 219 रनों का विशाल स्कोर बोर्ड पर टांग दिया. यह न्यूजीलैंड का टी-20 में अब तक का सबसे बड़ा स्कोर भी है. इससे पहले टी-20 में उसका सर्वोच्च स्कोर 215 था, जो उसने 10 मार्च 2018 को श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में बनाया था. भारतीय टीम का मजबूत बल्लेबाजी क्रम इस लक्ष्य का हासिल नहीं कर सका और 19.2 ओवरों में सिर्फ 139 रनों पर ढेर कर दिया गया.

न्यूजीलैंड को विशाल स्कोर प्रदान करने वाले सलामी बल्लेबाज टिम सेइफर्ट (84) को उनकी तूफानी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. सेइफर्ट के अलावा कोलिन मनुरो और केन विलियम्सन ने 34-34 रन बनाए. विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत के बल्लेबाज विकेट पर पैर नहीं जमा सके. 18 के कुल स्कोर पर टिम साउदी ने रोहित शर्मा (1) को आउट कर मेहमान टीम की उल्टी गिनती शुरू कर दी. 18 गेंदों पर दो चौके और तीन छक्के मार 29 रन बनाने वाले शिखर धवन 51 के कुल स्कोर पर लॉकी फग्र्यूसन का शिकार बने.

INDvsNZ: दिनेश कार्तिक ने पकड़ा अद्भुत कैच, वायरल हुआ VIDEO

युवा ऋषभ पंत सिर्फ चार रन ही बना सके. विजय शंकर ने 27 रन तेजी से बनाते हुए टीम को उम्मीद जगाई लेकिन 65 के कुल स्कोर पर वह मिशेल सैंटनर की गेंद पर पवेलियन लौट लिए. यहां से पूरी जिम्मेदारी अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के जिम्मे आ गई थी. क्रुणाल पांड्या (20) कुछ हद तक उनका साथ देते दिखे लेकिन साउदी ने उन्हें ज्यादा आगे नहीं जाने दिया. धोनी को दूसरे छोर से साथ नहीं मिला. 39 रन बनाने वाले धोनी 136 के कुल स्कोर पर भारत के नौवें विकेट के रूप में आउट हुए. पदार्पण कर रहे डार्ली मिशेल ने युजवेंद्र चहल (1) को आउट कर भारतीय पारी का अंत किया.

इसी हार के साथ भारत को न्यूजीलैंड में अपनी पहली जीत के लिए अगले मैच का इंतजार करना पड़ेगा. इससे पहले, किवी टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाने में सेइफेर्ट के अलावा टीम के बाकी बल्लेबाजों का भी हाथ रहा. सेइफर्ट और टी-20 विशेषज्ञ मनुरो ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई की. मुनरो ने इस मैच में 20 गेंदों की पारी में दो चौके और इतने की छक्के लगाए.

वेलिंग्टन में मिली सबसे बड़ी हार, धोनी के खेल ने ‘बिगाड़ा’ टीम इंडिया का ‘गणित’

सेइफर्ट और मुनरो ने पहले विकेट के लिए 86 रनों की साझेदारी की जिसे क्रुणाल ने शंकर के हाथों कैच कराते हुए तोड़ा. मेजबान टीम की रनगित यहां नहीं रूकी क्योंकि दूसरे छोर से तूफानी बल्लेबाजी कर रहे सेइफर्ट को कप्तान विलियम्सन का साथ मिला. इस बीच, 134 के कुल स्कोर पर सेइफर्ट को खलील अहमद ने बोल्ड कर शतक पूरा नहीं करने दिया. उन्होंने 43 गेंदों की अपनी पारी में सात चौके और छह छक्के मारे.

डर्ली मिशेल सिर्फ आठ रन ही बना सके. अंत में रॉस टेलर ने 14 गेदों पर 23 रन बनाए, लेकिन स्कॉट कुगेलेजिन आखिरी ओवरों में महज सात गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का मार नाबाद 20 रन बनाकर अपनी टीम को उसके सर्वोच्च स्कोर तक ले गए. भारत के लिए हार्दिक पांड्या ने दो विकेट लिए. भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, क्रुणाल पांड्या और युजवेंद्र चहल को एक-एक सफलता मिली. दूसरा टी-20 मुकाबला शुक्रवार को ऑकलैंड में खेला जाएगा.