नई दिल्ली. आबुधाबी टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ पाकिस्तान की जीत क्लियर दिख रही थी. लक्ष्य महज 176 रन का था और खेल में 2 दिन का समय शेष था, इस वजह से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में पाकिस्तान की 1-0 की बढ़त को कोई भी नकार नहीं रहा था. लेकिन, वो कहते हैं न कि क्रिकेट अनिश्चिताओं का खेल है. यहां पल में बाजी पलटती है. पाकिस्तान की जीत का पासा भी पलटा न्यूजीलैंड की टीम में शामिल 2 हिंदुस्तानी क्रिकेटरों ने. नतीजा ये हुआ कि एक वक्त 4 विकेट पर 130 रन बनाकर खेल रही पाक टीम ने अगले 41 रन पर अपने बाकी 6 विकेट खो दिए और टेस्ट मैच गंवा बैठी.

न्यूजीलैंड की जीत के पीछे ‘2 हिंदुस्तानी’

आबुधाबी टेस्ट में पाकिस्तान के हलक से जीत का निवाला छिनने वाले न्यूजीलैंड के 2 हिंदुस्तानी महारथी थे डेब्यूडेंट अजाज पटेल और ईश सोढ़ी. अजाज पटेल मुंबई में जन्में हैं जबकि ईश सोढ़ी लुधियाना में. अब जरा इन दोनों ने मिलकर न्यूजीलैंड की जीत की कहानी कैसे बुनी वो समझिए.

मुंबई के अजाज बने ‘हीरो’

आबुधाबी टेस्ट मुंबई में जन्में अजाज पटेल के करियर का पहला टेस्ट था. लेकिन उनके प्रदर्शन पर डेब्यू का दबाव थोड़ा भी नहीं दिखा. दोनों पारियों को मिलाकर उन्होंने न्यूजीलैंड के लिए 123 रन देकर 7 विकेट लिए और मैन ऑफ द मैच बने. अजाज ने पहली पारी में 2 विकेट और दूसरी पारी में 5 विकेट लिए.

अजाज ने तोड़ा रवि शास्त्री का रिकॉर्ड

पाकिस्तान को जीत की ट्रैक से हार के मुंह में धकेलने के साथ साथ अजाज पटेल ने रवि शास्त्री के रिकॉर्ड को भी तोड़ा है. दरअसल, डेब्यू टेस्ट में वो अब मुंबई में जन्में सबसे बेस्ट बॉलिंग फीगर वाले गेंदबाज हो गए हैं. उनसे पहले रवि शास्त्री ने 1981 में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू करते हुए 63 रन पर 6 विकेट लिए थे.

लुधियाना के सोढ़ी भी कम नहीं

अजाज के अलावा लुधियाना के ईश सोढ़ी ने भी न्यूजीलैंड की पाकिस्तान पर 4 रन से रोमांचक जीत में अहम भूमिका निभाई. सोढ़ी ने मैच में 3 विकेट चटकाए. आबुधाबी टेस्ट में पाकिस्तान के गिरे 20 विकेटों में से 11 विकेट सिर्फ अजाज पटेल और ईश सोढ़ी नाम के 2 हिंदुस्तानियों ने लिए.

2 हिंदुस्तानियों ने मिलकर लिखी जीत 

मैच में अजाज ने 7 विकेट और सोढ़ी ने 3 विकेट समेत कुल 10 विकेट तो लिए ही. इसके साथ साथ इस हिंदुस्तानी जोड़ी ने मिलकर इनफॉर्म बल्लेबाज बाबर आजम को रन आउट भी किया, जिसने सही मायनों में मैच का पासा पलट गया और जीत न्यूजीलैंड की झोली में आ गिरी.