बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) संभवत: शाकिब अल हसन पर किसी तरह की कानूनी कार्रवाई नहीं करेगा लेकिन बोर्ड के सीईओ निजामुद्दीन चौधरी ने कहा कि केंद्रीय अनुबंध की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए टेस्ट और टी20 कप्तान को कारण बताओ नोटिस का जवाब देना होगा.

आयरलैंड को मिला ऑस्‍ट्रेलिया का टिकट, टी20 विश्‍व कप के लिए किया क्‍वालीफाई

शाकिब को देश की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी ‘ग्रामीणफोन’ ने अपना ब्रांड दूत नियुक्त किया है जो कि टीम के प्रायोजक ‘रोबी’ का प्रतिस्पर्धी है.

केंद्रीय अनुबंध की शर्तों के अनुसार यह उल्लंघन है और बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन ने देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दे डाली थी.

लेकिन बीसीबी सीईओ चौधरी के अनुसार शाकिब के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं की जाएगी.

उन्होंने बंगाली दैनिक ‘प्रोथमो आलो’ से कहा, ‘यह बोर्ड का अंदरूनी मामला है और इसलिए शाकिब के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की जरूरत नहीं है. उन्हें हालांकि इसका जवाब देना होगा कि उन्होंने यह प्रायोजन अनुबंध क्यों किया जो कि केंद्रीय अनुबंध की शर्तों का उल्लंघन है.’

…तब बीसीबी अध्यक्ष ने शाकिब को लिया था आड़े हाथों

इससे पहले बीसीबी अध्यक्ष ने केंद्रीय अनुबंध की शर्तों का उल्लंघन करने और क्रिकेट बोर्ड को वित्तीय नुकसान पहुंचाने के लिये इस सीनियर क्रिकेटर को आड़े हाथों लिया था.

AUSvsSL: मिशेल स्‍टार्क ने दूसरे टी20 मुकाबले से बनाई दूरी, ये है वजह

हसन ने कहा था, ‘हम कानूनी कार्रवाई करने जा रहे हैं. हम इस मामले में किसी को नहीं बख्शेंगे. हम मुआवजे के लिए कहेंगे. हम कंपनी और खिलाड़ी दोनों से मुआवजा चाहते हैं.’

बांग्लादेश की टीम कुछ दिन बाद भारत दौरे के लिए रवाना होगी जहां उसे तीन टी-20 और दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है.

(इनपुट-भाषा)