दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच सर्बिया और क्रोएशिया में आयोजित खुद के प्रदर्शनी टेनिस टूर्नामेंट में भाग लेने के बाद कोविड-19 की जांच में पॉजिटिव पाये गये. बेलग्रेड और फिर क्रोएशिया के जदार में खेले गये टूर्नामेंट में वह इस महामारी से संक्रमित होने वाले चौथे खिलाड़ी है. उनकी पत्नी भी इस महामारी की चपेट में आ गयी है. Also Read - Indian Railways/IRCTC Train Update: अब हर दिन नहीं चलेंगी ये खास ट्रेनें, रेलवे ने कुछ स्पेशल ट्रेनों के फेरे बढ़ाए, यहां देखें पूरी लिस्ट

जोकोविच ने यहां जारी एक बयान में कहा, ‘‘ हम बेलग्रेड पहुंचने के बाद तुरंत बाद जांच करना चाहते थे. मैं और जेलेना (पत्नी) पॉजिटिव पाये गये जबकि हमारे बच्चे बीमारी से संक्रमित नहीं है.’’ कोरोना वायरस महामारी के बीच टूर्नामेंट के आयोजन और दूसरे देशों के खिलाड़ियों को लाने के लिए जोकोविच की आलोचना हो रही है. टेनिस खिलाड़ी विक्टर ट्रॉइकी ने मंगलवार को कहा कि वह और उनकी गर्भवती पत्नी दोनों कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. Also Read - SaNOtize : कोरोना वायरस से खिलाफ भारत की जंग में गेम चेंजर साबित हो सकता है ये नाक में डालने वाला स्प्रे

सर्बिया के खिलाड़ी ट्रॉइकी दो चरण की प्रतियोगिता के पहले चरण में बेलग्रेड में जोकोविच के खिलाफ खेले थे. ट्रॉइकी विश्व रैंकिंग में शीर्ष 20 में शामिल रह चुके हैं. Also Read - 'टोक्यो में ओलंपिक का कोई माहौल नहीं', जापान पहुंचे भारतीय खिलाड़ी ने बताई हकीकत

इससे पहले ग्रिगोर दिमित्रोव और शनिवार को उनके खिलाफ मैच खेलने वाले बोर्ना कोरिच को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया था. इस आयोजन के दौरान दोनों देशों में समाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं किया जा रहा था. जोकोविच ने कहा, ‘‘ हमने जो कुछ भी किया, हमने साफ दिल और सच्चे इरादों के साथ किया. हमारा टूर्नामेंट पूरे क्षेत्र में एकजुटता और शांति का संदेश साझा करने के लिए था.’’

कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद भी उन्होंने टूर्नामेंट के आयोजन का बचाव करते हुए कहा, ‘‘ इसके आयोजन का विचार दूसरों की मदद के लिए आया था. इससे जमा राशि को जरूरतमंद लोगों को देने की योजना थी. सब ने दिल खोलकर इसका स्वागत किया था.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने उस समय टूर्नामेंट का आयोजन किया जब वायरस कमजोर हो गया था, यह विश्वास करते हुए कि टूर की मेजबानी के लिए शर्तों को पूरा किया जाएगा. ‘दुर्भाग्य से, यह वायरस अभी भी मौजूद है. यह एक नई वास्तविकता है जिसे हम अब भी सामना करना और उसके साथ रहना सीख रहे हैं.’’