टेनिस जगत के दिग्गज रोजर फेडरेर (Roger Federer) और नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) शंघाई मास्टर्स के क्वार्टर-फाइनल से बाहर हो गए हैं। जर्मनी के एलेक्जैंडर ज्वेरेव ने दो घंटे तक चले रोमांचक मुकाबले में फेडरेर को 6-3 6-7 (7) 6-3 से हराया और सेमीफाइनल में जगह बनाई। वहीं ग्रीस के युवा खिलाड़ी स्टेफानोस सितसिपास ने वर्ल्ड नंबर-1 सर्बिया के जोकोविक को क्वार्टर फाइनल में मात देकर सेमीफाइनल में जगह बना ली।

फेडरेर के साथ मैच पर ज्वेरेव ने कहा, “वो हमेशा ही आपके लिए चीजें मुश्किल बनाते हैं, जैसा कि उन्होंने आज किया और केवल मौका पाने के लिए आपको अपना सर्वश्रेष्ठ टेनिस खेलना होता है। मुझे पता था कि अगर मैं वैसे ही खेलता रहा जैसे मैंने पहले दो सेट खेले तो तीसरे सेट में भी मुझे मौका मिलेगा।”

सेमीफाइनल में ज्वेरेव का सामने इटली के 23 साल के माटेओ बेरेटिनी से होगा, जिन्होंने चीन ओपन में चैंपियन डोमिनिक थिएम को 7-6 (8) 6-4 से हराया था।

मिल्खा सिंह और स्मृति मंधाना इंडियन स्पोर्ट्स पुरस्कार से सम्मानित

सितसिपास ने जोकोविक को 3-6, 7-5, 6-3 से हराकर अंतिम-4 में प्रवेश किया और जोकोविक को बाहर किया। इसी के साथ 21 साल के इस युवा ने अगले महीने लंदन में होने वाले एटीपी फाइनल्स में अपनी जगह पक्की कर ली। अपने करियर की इस बड़ी जीत के बाद वर्ल्ड नंबर-7 सितसिपास को जोकोविक से भी तारीफें मिलीं।

सर्बियाई खिलाड़ी ने कहा, “वो उच्च स्तर का टेनिस खेलते हैं। सर्विस के बाद उनका खेल दमदार होता है। मैंने उन्हें ज्यादा डिफेंड नहीं करने दिया। मैं उन्हें चढ़ कर खेलने का मौका दिया। वो जीत के हकदार थे।”

सेमीफाइनल में वो रूस के डेनिल मेदवेदेव के खिलाफ कोर्ट पर उतरेंगे। रूस के खिलाड़ी ने इटली के फाबियो फोगनिनि को 6-3, 7-6 (4) से मात देकर अंतिम-4 में जगह पक्की की है।

आगामी आईएसएल में भारतीय स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री निभाएंगे ये रोल

गौरतलब है इस बार शंघाई मास्टर्स की खिताबी दौड़ में टेनिस के चार दिग्गज खिलाड़ी- फेडरेर, जोकोविक, राफेल नाडल और एंडी मरे में से कोई भी शामिल नहीं है। साल 2009 में टूर्नामेंट के आगाज के बाद ऐसा पहली बार हुआ है।