कोलकाता। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भारतीय गेंदबाजों विशेषकर तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार तथा कलाई के दोनों स्पिनरों कुलदीप यादव और युजवेंद्र चाहल के योगदान को बेजोड़ करार दिया जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में अपेक्षाकृत कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव करके भारत को 50 रन से जीत दिलाई. भारतीय टीम पहले बैटिंग करते हुए कोहली के 92 रन के बावजूद 252 रन पर आउट हो गई. इसके बाद कुलदीप यादव ने हैट-ट्रिक ली जबकि भुवनेश्वर ने 6.1 ओवर में नौ रन देकर तीन विकेट और युजवेंद्र चहल और हार्दिक पंड्या ने दो विकेट लिए जिससे भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 43.1 ओवर में 202 रन पर आउट कर दिया.

मैन आफ द मैच कोहली ने बाद में कहा, ‘पारी समाप्त होने के बाद हमें ऐसा नहीं लग रहा था कि हमने पर्याप्त रन बनाए हैं. लेकिन हम जानते थे कि अगर हम अच्छी शुरुआत करते हैं तो हमारे पास जीत का मौका रहेगा. हमें नियमित अंतराल में विकेट लेने की जरूरत थी. विकेट बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं था और सभी बल्लेबाजों को ऐसा लग रहा था.’ 

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट-ट्रिक लेकर रचा इतिहास

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट-ट्रिक लेकर रचा इतिहास

कुलदीप ने भले ही हैट्रिक बनाई लेकिन कोहली ने भुवनेश्वर के शुरुआती स्पैल को महत्वपूर्ण बताया जब उन्होंने नौ रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाजों को पविलियन भेज दिया था. कोहली ने कहा, ‘भुवी का स्पैल अधिक महत्वपूर्ण था क्योंकि उन्हें पहले दस ओवरों में रनों की जरूरत थी. छह ओवरों में नौ रन देकर तीन विकेट लेना बेजोड़ प्रदर्शन है. उन्होंने हमारी जीत की नींव रखी और स्पिनरों ने बीच के ओवरों में विकेट लेकर दबाव बनाए रखा.’ भारतीय कप्तान ने दोनों युवा स्पिनरों कुलदीप और चाहल की भी तारीफ की.

कोलकाता वनडे : भारत ने आस्ट्रेलिया को 50 रनों से दी मात, सीरीज में 2-0 से आगे

कोलकाता वनडे : भारत ने आस्ट्रेलिया को 50 रनों से दी मात, सीरीज में 2-0 से आगे

उन्होंने कहा, ‘वे दोनों युवा हैं लेकिन गेंदबाजी करते समय अपनी पूरी जान लगा देते हैं. इससे उनके जज्बे का पता चलता है. उन्होंने 2019 वर्ल्ड कप से पहले टीम में प्रतिस्पर्धा तेज कर दी है. रवींद्र जडेजा अभी टीम में है और हमारे पास काफी विकल्प हैं.’ अपनी पारी के बारे में कोहली ने कहा, ‘मैं हमेशा खुद को प्रेरित करने की कोशिश करता हूं. मैं जानता था कि मुझे लंबे समय तक टिके रहना होगा क्योंकि विकेट बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं था.’

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया. स्मिथ ने कहा, ‘जब हमने उन्हें 250 रन के आसपास रोका तो हम बहुत खुश थे. हमारे गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन बल्लेबाज दबाव में आ गए और उन्होंने गलत फैसले किए. (मार्कस) स्टोइनिस ने आखिर में अच्छी पारी खेली लेकिन यह शायद मेरी और ट्रेविस हेड की गलती थी. हम दोनों गलत समय पर आउट हुए.’ उन्होंने कहा, ‘इससे रन गति धीमी पड़ गई और खेल आगे बढ़ने के साथ गेंद भी अधिक स्पिन लेने लगी. हमें लगातार बेहतर फैसले करने होंगे. भारतीय गेंदबाजों ने हर स्तर पर अच्छा प्रदर्शन किया.’