भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के लिए मौजूदा न्यूजीलैंड दौरे पर तीन मैचों की वनडे सीरीज कुछ खास नहीं रहा था. इसके बाद बुमराह दो मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में भी गेंद से कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए. ऐसे में इस पेसर की आलोचना होना लाजिमी है. बुमराह को वनडे और फिर वेलिंगटन टेस्ट में खराब प्रदर्शन के कारण आलोचनाओं का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें पता है कि जब तक वह अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं तब तक इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. Also Read - रोहित शर्मा की बेटी ने की बुमराह की गेंदबाजी की नकल; भारतीय पेसर ने कहा- ये तो मुझसे भी बेहतर है

जसप्रीत बुमराह बोले- हमें रिषभ पंत और हनुमा विहारी की क्षमताओं पर भरोसा है Also Read - बुमराह के साथ इंस्‍टाग्राम लाइव चैट के दौरान फैन के सवाल पर झल्‍लाए रोहित शर्मा, 'हम इंडियन हैं और...'

बकौल बुमराह, ‘मैं निजी प्रदर्शन पर ध्यान नहीं देता. आपका ध्यान प्रक्रिया को सही रखने पर होता है और आप अच्छी गेंदबाजी करने का प्रयास करते हो. आप दबाव बनाने की कोशिश करते हो. किसी दिन मुझे विकेट मिलते हैं तो किसी दिन किसी और को. मेरा ध्यान हमेशा इस पर रहता है कि मैं क्या कर सकता हूं.’ Also Read - पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने बताया- बेन स्टोक्स या हार्दिक पांड्या? कौन है बेहतर ऑलराउंडर

वेलिंगटन टेस्ट में टीम इंडिया को 10 विकेट से हार मिली. दो मैचों की टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम 0-1 से पीछे है जबकि दूसरे टेस्ट मैच में भी उस पर हार का खतरा मंडरा रहा है. बुमराह ने कहा कि उन्हें सिर्फ इस चीज का फर्क पड़ता है कि उनकी मानसिकता सही है या नहीं.

हेगले ओवल की पिच से मिल रही मदद पर बुमराह ने कहा, ‘पहले दिन पिच में नमी थी और इसके कारण जब उन्होंने (न्यूजीलैंड ने)गेंदबाजी की तो कुछ निशान पड़ गए. दोनों टीमों को सीम मूवमेंट मिल रही थी और गेंदबाजों के पास मौका रहा और अगर आप सही लाइन और लेंथ से गेंदबाजी कर रहे हैं तो आप दबाव बना सकते हैं.’

रिली रोसो ने PSL इतिहास का सबसे तेज शतक जड़ा, कई रिकॉर्डस किए ध्वस्त

बुमराह को खुशी है कि वह और मोहम्मद शमी लगातार मौके बनाने में सफल रहे जिससे टीम पहली पारी में सात रन की बढ़त हासिल करने में सफल रही. बुमराह ने क्राइस्टचर्च में जारी दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन न्यूजीलैंड की पहली पारी में 3 विकेट निकाले जबकि शमी ने 4 विकेट चटकाए.