भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट मैच के पहले दिन बारिश से बाधित मैच में 122 रन के कुल स्कोर पर अपने पांच विकेट गंवा दिए. इस मैच के जरिए न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जेेमीसन ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की. टेस्ट क्रिकेट में विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के विकेट लेना जैमीसन के लिए किसी सपने से कम नहीं था और उनका मानना है कि पिछले कुछ सप्ताह उनके लिए किसी ‘ख्वाब’ की तरह ही रहे हैं. Also Read - COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह

रॉस टेलर को हर एक टेस्ट मैच के लिए गिफ्ट में दी गई 100 वाइन की बोतलें Also Read - COVID-19: बीसीसीआई ने पुजारा फैमिली की तरह लोगों से घरों में रहने की अपील की

न्यूजीलैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले जैमीसन ने तीन विकेट चटकाए. छह फुट आठ इंच लंबे इस गेंदबाज ने कहा ,‘ मुझे यकीन नहीं हो रहा. पिछले कुछ सप्ताह सपने जैसे रहे हैं. मैं अपने और टीम के लिए बहुत खुश हूं.’ उन्होंने कहा, ‘कोहली बेहतरीन बल्लेबाज हैं और भारत के लिए महत्वपूर्ण भी. उनका विकेट लेना बड़ी उपलब्धि थी. शुरूआत में ही दो विकेट लेना काफी खास था.’ Also Read - कोरोना से जंग में किसी खिलाड़ी ने दान किए लाखों तो किसी के बड़े-बड़े बोल, फैंस भी हुए दुखी

उनकी गेंदों को मिलने वाली अतिरिक्त उछाल उनकी ताकत रही है. उन्होंने कहा ,‘मैं सरलता में विश्वास रखता हूं. मेरा काम उन्हें खेलने पर मजबूर करना है और अतिरिक्त उछाल उन्हें आगे लाती है. गति , उछाल और स्विंग से काफी मदद मिल रही है जिससे मेरा काम आसान हो गया.’

वेलिंगटन टेस्ट: तेज बारिश के चलते नहीं हो सका तीसरे सेशन का खेल; स्टंप तक टीम इंडिया 122/5

लंबे कद के कारण वह दूसरे सीम गेंदबाजों की तुलना में अधिक मुकम्मिल गेंद डाल पाते हैं जिस पर उन्होंने पुजारा और हनुमा विहारी हो आउट किया. उन्होंने कहा ,‘अपने कद की वजह से मैं फुल लैंग्थ डाल सकता हूं. इससे बल्लेबाजों को फ्रंटफुट पर आना ही पड़ता है.’