इंग्लैंड की पूर्व महिला टेस्ट क्रिकेटर इलीन ऐश (Eileen Ash) का 110 साल की उम्र में निधन हो गया. वह दुनिया की सबसे उम्रदराज जीवित क्रिकेटर थीं. इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) शनिवार को यह जानकारी साझा की. ऐश ने द्वितीय विश्व से पहले और बाद में अपने देश इंग्लैंड के लिए टेस्ट मैच खेले थे.Also Read - गाबा के बाद अगर एडिलेड में हारती है इंग्लैंड तो 2006-07 जैसे हालात हो जाएंगे: रिकी पॉन्टिंग

अपने टेस्ट करियर में इस पूर्व महिला खिलाड़ी ने कुल 7 टेस्ट मैच खेले और उन्होंने 23 के औसत से कुल 10 विकेट अपने नाम किए. ऐश ने 1937 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पदार्पण किया था और निधन के समय वह दुनिया की सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर थीं. Also Read - Pakistan vs England: इंग्लैंड ने भी रद्द किया पाकिस्तान दौरा, Ramiz Raja बोले पाक को बनना होगा बेस्ट

Also Read - पुराने नस्लीय ट्वीट में फंस सकता है इंग्लैंड का एक और खिलाड़ी, जांच शुरू

वह 1949 में एशेज दौरे पर ऑस्ट्रेलिया गई टीम का हिस्सा थीं. इसके अलावा उन्होंने घरेलू क्रिकेट में ‘सिविल सर्विस वुमैन’, ‘मिडिलसेक्स वुमैन’ और ‘साउथ वुमैन’ का प्रतिनिधित्व किया था. ईसीबी ने एक बयान में कहा, ‘इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड इलीन ऐश के 110 साल की उम्र में निधन से काफी दुखी है.’

लंदन में जन्मीं खिलाड़ी ने 2017 महिला वर्ल्ड कप फाइनल से पहले घंटी भी बजाई थी जिसमें इंग्लैंड की टीम ने रोमांचक मुकाबले में भारत को हराया था. अपने क्रिकेट करियर के अलावा ऐश ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान गुप्त खुफिया सेवा ‘एमआई6’ के लिए भी काम किया था.

इंग्लैंड की पूर्व क्रिकेटर क्लेयर कोनोर ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया, जो ईसीबी की महिला क्रिकेट की प्रबंध निदेशक और मेरिलबोन क्रिकेट क्लब की अध्यक्ष भी हैं.

(इनपुट: भाषा)