इंग्लैंड के युवा तेज गेंदबाज ऑली रॉबिन्सन (Ollie Robinson) शानदार डेब्यू करने के बावजूद सबसे मुश्किल दौर से जूझ रहे हैं. डेब्यू के बाद से ही सोशल मीडिया वेबसाइट पर उनके कुछ पुराने ट्वीट वायरल हो रहे हैं, जो नस्लीय और लैंगिग भेदभाव से भरे हुए हैं. अब खबर आ रही है कि शानदार डेब्यू करने के बावजूद इस खिलाड़ी को इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) उन पर कार्रवाई करने का मन बना चुका है और ऐसे में यह खिलाड़ी अब न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज का दूसरा और आखिरी अपना दूसरा टेस्ट मैच नहीं खेलेगा.Also Read - ENG vs NZ- इंग्लैंड टीम की बढ़ रही चिंता, फास्ट बॉलिंग विभाग में 7वां गेंदबाज चोटिल

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में इस 28 वर्षीय लंबे कद के युवा तेज गेंदबाज ने 75 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए थे. हालांकि इस क्रिकेटर ने इन विवादित ट्वीट के सामने आने के बाद ही माफी मांग ली थी और साथ यह सफाई दी थी कि यह उनके 8 साल पुराने ट्वीट हैं और वह बिल्कुल भी नस्लीय या लैंगिक भेदभाव करने वाले व्यक्ति नहीं हैं. फिर भी वह अपने कृत्य के लिए माफी मांगते हैं. यहां तक कि उनके टीम के पुराने साथी और रूममेट रह चुके मोईन अशरफ भी उनके बचाव में उतरे हैं और उन्होंने दूसरे लोगों को सलाह दी है कि सभी को इसे छोड़कर आगे बढ़ना चाहिए. Also Read - ENG vs NZ- टेस्ट सीरीज से पहले कीवी टीम को झटका, 3 सदस्य कोरोना पॉजिटिव, आइसोलेशन में गए

हालांकि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड इस मसले को हल्के में लेने को तैयार नहीं है. इस टेस्ट मैच के पहले दिन इंग्लैंड और न्यूजीलैंड नस्लीय भेदभआव के खिलाफ एक साथ खड़े हुए थे. इसके बाद अब आवाज उठ रही है कि अगर इंग्लैंड सचमुच क्रिकेट में नस्लीय भेदभाव के खिलाफ है तो उसे इस मुद्दे की जांच कर एक उदाहरण पेश करना चाहिए. Also Read - ENG vs NZ: जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड की इंग्लैंड टीम में वापसी, एशेज के बाद हुए थे बाहर

ऐसे में टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक माना जा रहा है कि उभरते हुए इस तेज गेंदबाज के करियर पर अपने पहले टेस्ट के बाद ही कुछ समय के लिए ब्रेक लग सकता है. न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में उनका टीम से बाहर होना भी तय है.