ओलंपिक भारोत्तोलन में इतिहास रचने वाली मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने भारत लौटने के बाद अपना रजत पदक सोमवार को देशवासियों के नाम करते हुए कहा कि सरकार का सहयोग नहीं मिलता तो उनका सपना कभी पूरा नहीं होता।Also Read - Tokyo Paralympics 2020: PM मोदी ने Noida DM को सिल्‍वर जीतने पर दी बधाई, परिवार में जश्‍न

इस मौके पर मीराबाई और उनके कोच को सम्मानित करने के लिये आयोजित कार्यक्रम में खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के अलावा खेल राज्य मंत्री निशिथ प्रामाणिक , केंद्रीय मंत्री किरेन रीजीजू, सर्बानंद सोनोवाल और जी कृष्ण रेड्डी मौजूद थे। Also Read - नीरज चोपड़ा, सुमित अंतिल की सफलता के बाद क्रिकेट जितना लोकप्रिय होगा भालाफेंक: अनुराग ठाकुर

मीराबाई ने कहा, ‘‘मेरे लिए ये सपना सच होने जैसा है। मैं इस पदक को भारतवासियों को समर्पित करना चाहती हूं। ये पदक मैं उन सबको समर्पित करती हूं जिन्होंने मेरी हौसला अफजाई की, जिन्होंने मेरे लिये प्रार्थना की।” Also Read - उत्कृष्टता हासिल करने के लिए विराट कोहली को फॉलो करना चाहते हैं पीआर श्रीजेश

मणिपुर की इस खिलाड़ी ने 49 किग्रा वर्ग में कुल 202 किग्रा (87 किग्रा + 115 किग्रा) भार उठाकर शनिवार को रजत पदक हासिल किया था। इससे पहले भारोत्तोलन में 2000 सिडनी ओलंपिक में कर्णम मल्लेश्वरी ने कांस्य पदक जीता था।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं प्रधानमंत्री और खेल मंत्री को शुक्रिया बोलना चाहूंगी। उन्होंने मुझे बहुत कम समय में अभ्यास के लिए अमेरिका भेजा था। सभी तैयारियों को एक दिन में पूरा किया गया था। उनके कारण ही मुझे अच्छा प्रशिक्षण मिला और मैं पदक जीतने में सफल रही। मेरी सफलता का श्रेय टॉप्स (टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना) जैसी योजनाओं को भी जाता है।’’

ठाकुर ने हिमाचली टोपी, शॉल पहनाकर चानू और उनके कोच को सम्मानित किया। खेल मंत्री ठाकुर ने कहा कि मीराबाई ने ओलंपिक के पहले दिन पदक जीता जिससे देश के दूसरे खिलाड़ियों का मनोबल काफी बढ़ा है।

उन्होंने कहा, ‘‘ओलंपिक खेलों के पहले दिन आप ने पदक जीत कर बाकी खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया है। आपकी इस उपलब्धि से बाकी खिलाड़ियों को प्रेरणा मिलेगी।”

मणिपुर मीराबाई चानू को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नियुक्त करेगा

इस से पहले मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने सोमवार को घोषणा की कि तोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली भारोत्तोलक मीराबाई चानू को राज्य पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उन्हें एक करोड़ रुपये का इनाम भी देगी।

रेलमंत्री ने की 2 करोड़ रुपये के इनाम की घोषणा

रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने सोमवार को भारतीय रेलवे की भारोत्तोलक मीराबाई चानू से मुलाकात की, जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीता है। मंत्री ने उन्हें 2 करोड़ रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की। एक ट्वीट में, रेल मंत्रालय ने कहा, माननीय मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने ओलंपिक रजत पदक विजेता और भारतीय रेलवे के भारोत्तोलक, सुश्री मीराबाई चानू को सम्मानित किया।

माननीय मंत्री ने टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें 2 करोड़ रुपये के नकद पुरस्कार और पदोन्नति की घोषणा की।चानू ने यहां रेल मंत्रालय में वैष्णव से मुलाकात की। शनिवार को 49 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीतने वाली चानू ने ओलंपिक खेलों में भारत के पदक तालिका में खाता खोला। स्वदेश वापसी पर सोमवार को भारत माता की जय के नारों के साथ उनका शानदार स्वागत किया गया।