टीम इंडिया को दो विश्व कप और एक चैंपियंस ट्रॉफी जिताने वाले कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) करियर की शुरुआत में कप्तानी के बारे में सोच भी नहीं रहे थे। भारतीय टीम में 15 साल पूरे कर चुके धोनी ने खुद कभी भी इतने लंबे समय तक खेलने के बारे में नहीं सोचा था। करियर के शुरुआती दिनों में धोनी केवल 30 लाख रुपये कमाकर अपने घर रांची में शांति से रहना चाहते थे। Also Read - अजिंक्य रहाणे ने फैंस के साथ मनाया जन्मदिन; शिल्पा शेट्टी, केएल राहुल ने दी शुभकामनाएं

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर चुके पूर्व बल्लेबाज वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने इस बात का खुलासा किया। जाफर ने कहा कि धोनी से एक बार उन से कहा था कि वो ‘क्रिकेट खेल कर 30 लाख रुपये कमाना चाहते है’। Also Read - एक बार फिर यूएई ने बीसीसीआई के सामने रखा IPL आयोजन का प्रस्ताव

जाफर ने जब एक फैन ने धोनी से जुड़ी खास याद के बारे में पूछा तो उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ मुझे याद है जब वो भारतीय टीम में अपने पहले या दूसरे साल में थे तब उन्होंने कहा था, वो क्रिकेट खेल कर 30 लाख रुपये कमाना चाहते थे ताकि वो रांची में शांति से जीवन व्यतीत कर सकें।’’ Also Read - गेंदबाजी कोच की सलाह- अपने राज्य के मैदानों पर अभ्यास शुरू करें भारतीय क्रिकेटर

वैसे अच्छा ही हुआ जो धोनी की शुरुआती योजना फेल हो गई क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो ना तो पहला टी20 विश्व कप जीत पाता और ना ही 28 साल बाद दूसरा वनडे विश्व कप जीत पाता। धोनी विश्व क्रिकेट के अकेले ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने तीनों आईसीसी ट्रॉफी जीती हैं।