टीम इंडिया को दो विश्व कप और एक चैंपियंस ट्रॉफी जिताने वाले कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) करियर की शुरुआत में कप्तानी के बारे में सोच भी नहीं रहे थे। भारतीय टीम में 15 साल पूरे कर चुके धोनी ने खुद कभी भी इतने लंबे समय तक खेलने के बारे में नहीं सोचा था। करियर के शुरुआती दिनों में धोनी केवल 30 लाख रुपये कमाकर अपने घर रांची में शांति से रहना चाहते थे। Also Read - India Lose WTC Final 2021: Ind Vs NZ करोड़ों भारतीय फैन्‍स की तरह Wasim Jaffer भी हैं निराश, ‘जसप्रीत बुमराह से ऐसी उम्‍मीद ना थी’

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर चुके पूर्व बल्लेबाज वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने इस बात का खुलासा किया। जाफर ने कहा कि धोनी से एक बार उन से कहा था कि वो ‘क्रिकेट खेल कर 30 लाख रुपये कमाना चाहते है’। Also Read - MS Dhoni का नया लुक हो रहा वायरल, तस्वीरों में देखें- मूछो में कैसे लग रहे माही

जाफर ने जब एक फैन ने धोनी से जुड़ी खास याद के बारे में पूछा तो उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ मुझे याद है जब वो भारतीय टीम में अपने पहले या दूसरे साल में थे तब उन्होंने कहा था, वो क्रिकेट खेल कर 30 लाख रुपये कमाना चाहते थे ताकि वो रांची में शांति से जीवन व्यतीत कर सकें।’’ Also Read - India vs New Zealand: करियर के अंतिम टेस्‍ट मैच में BJ Watling ने तोड़ दिया MS Dhoni का बड़ा रिकॉर्ड

वैसे अच्छा ही हुआ जो धोनी की शुरुआती योजना फेल हो गई क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो ना तो पहला टी20 विश्व कप जीत पाता और ना ही 28 साल बाद दूसरा वनडे विश्व कप जीत पाता। धोनी विश्व क्रिकेट के अकेले ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने तीनों आईसीसी ट्रॉफी जीती हैं।