नई दिल्ली. सौरभ चौधरी… ये नाम भूले तो नहीं. जी हां, 16 साल का वही भारतीय नौजवान जिसने 21 अगस्त को इंडोनेशिया के शूटिंग रेंज में अपने अचूक निशाने से देश के लिए एशियन गेम्स का गोल्ड मेडल जीता था. 16 दिन बाद सौरभ ने एक और गोल्डन निशाना लगाया है. इस बार उन्होंने ये कमाल दक्षिण कोरिया के चांगवोन में चल रहे जूनियर वर्ल्ड चैम्पियनशिप में कर दिखाया है. Also Read - Olympic Selection Trials: शूटर सौरभ चौधरी ने एयर पिस्टल स्पर्धा में किया टॉप

चांगवोन में जूनियर वर्ग में पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में सौरभ चौधरी ने गोल्ड मेडल जीता और नया वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया. कमाल की बात ये रही कि सौरभ ने अपने ही बनाए पिछले वर्ल्ड रिकॉर्ड को यहां थोड़ा और दुरुस्त किया है. इससे पहले आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप के फाइनल में 243.7 का स्कोर किया था, जो वर्ल्ड रिकॉर्ड बना था. तब उन्होंने चीनी शूटर वांग झेहाओ का बनाया 242.5 स्कोर के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ा था. अब 245.5 का स्कोर करके सौरभ ने नया वर्ल्ड रिकॉर्ड सेट किया है.

Asian Games 2018: 16 साल के सौरभ चौधरी ने भारत को शूटिंग में दिलाया पहला गोल्ड मेडल

इस इवेंट में सौरभ से पीछे कोरिया के होजिन लिम दूसरे स्थान पर रहे जबकि भारत के अर्जुन सिंह चीमा ने ब्रॉन्ज मेडल जीता. सौरभ ने विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप के पांचवें दिन भारत के खाते में गोल्ड मेडल डाला है. इससे पहले उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्सड टीम इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. भारत इस टूर्नामेंट में अब तक चार गोल्ड, तीन सिल्वर और चार ब्रॉन्ज जीत चुका है. इस टूर्नामेंट के इतिहास में ये भारत का बेस्ट प्रदर्शन है.