न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम (Brendon McCullum) का मानना है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) फाइनल मुकाबले के छठें और रिजर्व डे पर तेज गेंदबाज काइल जेमीसन (Kyle Jamieson) से गेंदबाजी की शुरूआत कराना टीम के कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) का मास्टरस्ट्रोक रहा।Also Read - जॉनी बेयरस्टो के धमाकेदार शतक की मदद से न्यूजीलैंड को हरा इंग्लैंड ने ट्रेंट ब्रिज के मैदान पर रचा इतिहास

जेमीसन ने छठें दिन के पहले सीजन में भारतीय कप्तान विराट कोहली (13) और चेतेश्वर पुजारा (15) को आउट कर भारतीय पारी लड़खड़ा दी थी। न्यूजीलैंड ने ये मुकाबला आठ विकेट से जीत खिताब अपने नाम किया था। Also Read - पीठ दर्द के कारण इंग्लैंड के खिलाफ चौथे दिन के खेल से बाहर हुए कीवी गेंदबाज काइल जेमीसन

मैक्कुलम ने क्रिकइंफो से कहा, “मेरे ख्याल से विलियमसन का जेमीसन से गेंदबाजी की शुरूआत कराना मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ। उनकी लंबाई और रिलीज प्वाइंट ने भारतीय बल्लेबाजों को मुश्किल में डाला। वो ओपनिंग कर सकते हैं और एक बार ऐसा होने से ही टीम में आत्मविश्वास बढ़ गया।” Also Read - स्‍टोक्‍स-मैक्‍कुलम की जोड़ी आने के बाद टेस्‍ट में तीन साल बाद होगी इस गेंदबाज की वापसी!

2015 विश्व कप के फाइनल में न्यूजीलैंड की कप्तानी करने वाले मैकुलम इस बाते से खुश हैं कि विलियम्सन और रॉस टेलर ने जीत का शॉट लगाया।

मैक्कुलम ने कहा, “लक्ष्य का पीछा करना चुनौतीपूर्ण था और 140 रन भी भारी लग रहे थे, विशेषकर तब जब आपको पता है कि यहां जोखिम नहीं उठा सकते। लेकिन न्यूजीलैंड के दो महान बल्लेबाजों ने इसे पूरा किया। आपने अगर विलियमसन और टेलर का चेहरा देखा हो तो आपको पता चलेगा कि उनके लिए ये जीत क्या मायने रखती है।”