इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट के तीसरे दिन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की शतकीय साझेदारी के दम पर टीम इंडिया ने 171 रनों की बढ़त हासिल की। केनिंग्टन ओवल के मैदान पर रोहित ने 256 गेंदो पर 127 रन बनाए, जबकि पुजारा ने 127 गेंदो पर 61 रन जड़े।Also Read - IPL 2021: Rohit Sharma और Hardik Pandya की फिटनेस पर मुंबई ने दिया अपडेट, जानें- क्या खेलेंगे अगला मैच

दिन की शुरुआत रोहित और केएल राहुल की 83 रनों की दमदार साझेदारी के साथ हुई लेकिन राहुल 46 रन बनाकर आउट हो गए। जिसके बाद क्रीज पर आए पुजारा, जिन्होंने आते ही चौके-छक्के लगाने शुरू कर दिए। Also Read - IPL New Team Auction: बीसीसीआई ने बढ़ाई आवेदन की तारीख, 10 लाख नॉन-रिफंडेबल राशि से कर सकते हैं आवेदन

आमतौर पर शांत स्वभाव से बल्लेबाजी करने वाले पुजारा का ये अलग अंदाज देखकर फैंस के साथ साथ रोहित भी हैरान हुए। बीसीसीआई की वेबसाइट पर अपलोड किए गए एक वीडियो में इसी बात को लेकर रोहित ने पुजारा की टांग खीची। Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने घरेलू क्रिकेटरों की मैच फीस बढ़ाए जाने के फैसले का स्वागत किया

पुजारा कहा, “मैं वास्तव में खुश हूं कि हमने सौ रनों की साझेदारी बनाई। मुझे उम्मीद है कि आगे भी ऐसी कई साझेदारियां होंगी। मुझे उम्मीद है कि आप और भी कई शतक बनाएंगे।”

वहीं रोहित ने हंसते हुए कहा, “आपके लिए भी बहुत खुश हूं पूजी (पुजारा)। किसी ने मुझसे कहा था कि आप 50 गेंदों में 35 रन बनाए।”

रोहित के जवाब में पुजारा ने कहा, “ये एक अच्छी शुरुआत थी, आप लोगों (रोहित, राहुल) की बदौलत गेंद पुरानी हो गई थी और मैं अपने शॉट खेल सका। उस सेशन में बल्लेबाजी करना थोड़ा आसान था।”

रोहित ने आगे कहा, “हमारी भूमिकाएं वास्तव में उलट दी गई हैं। आम तौर पर मैं कुछ शॉट खेलना पसंद करता हूं और जबकि आप समय लेते हैं तो स्कोरबोर्ड तेजी से आगे बढ़ता है लेकिन अब भूमिकाएं उलट गई हैं।”

भारतीय सलामी बल्लेबाज ने कहा, “मुझे क्रीज पर समय बिताकर और ज्यादा से ज्यादा गेंदें खेलकर खुशी हो रही है। मेरे लिए इस दौरे से पहले सबसे बड़ी चुनौती थी कि मैं ज्यादा से ज्यादा गेंदें खेल सकूं। जब तक आप क्रीज पर समय बिताएंगे तब तक रन और बाउंड्री आते रहेंगे।”

2019 के बाद टेस्ट क्रिकेट में बतौर सलामी बल्लेबाज उतरने के बाद रोहित ने क्रिकेट के सबसे बड़े फॉर्मेट में दूसरी पारी की शुरुआत की थी। लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टेस्ट में दोहरा शतक जड़ने के बाद भी रोहित को विदेशी जमीन पर 100 रन का आंकड़ा पार ना कर पाने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ रहा था।

ऐसे में ओवल के मैदान पर जड़ा ये शतक रोहित के लिए बेहद खास है। जब पुजारा ने इस बारे में पूछा कि “क्या आप इस टेस्ट मैच से पहले शतक के बारे में सोच रहे थे?” तो रोहित ने इससे इंकार किया।

रोहित ने कहा, “सच कहूं तो मैं उन सभी चीजों के बारे में नहीं सोच रहा था क्योंकि वो मेरे लिए मायने नहीं रखतीं। रन बनाना हमेशा महत्वपूर्ण होता है लेकिन वो पहले विदेशी शतक जैसे कीर्तिमानक अपने समय पर ही होंगे। मैं सिर्फ अपनी भूमिका निभाना चाहता था। मैं इंग्लैंड में पहली बार ओपनिंग कर रहा हूं, मेरे लिए खेलना बहुत महत्वपूर्ण था और मुझे खुशी है कि मैं ऐसा करने में सक्षम था।”