नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आर पी सिंह ने क्रिकेट से सभी प्रारूपों से संन्यास का ऐलान किया. 32 साल के आरपी सिंह बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं और शुरुआती दौर में उन्होंने जबरदस्त नाम कमाया था. धोनी की कप्तानी के दौर में आर पी सिंह ने जबरदस्त फॉर्म दिखाया था. सिंह ने अपने संन्यास की जानकारी ट्विटर पर दी. बता दें कि इन दिनों आर पी सिंह क्रिकेट कमेंटेटर के के तौर पर काम करते हैं. Also Read - ICC World Cup Super League points table: द. अफ्रीका को हराकर दूसरे स्‍थान पर पहुंचा पाकिस्‍तान, भारत की हालत पतली

Also Read - मैं रिषभ पंत से प्रभावित हूं क्योंकि मुझे लगता है कि वो मैचविनर है: BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली

4 सितंबर 2005 को किया याद Also Read - माइकल वॉन: रक्षात्‍मक बल्‍लेबाजी कर रही है टीम इंडिया, आखिरी 10 ओवर में आती है रन बनाने की याद

आरपी सिंह ने ट्विटर पर लिखा- 13 साल पहले आज ही के दिन 4 सितंबर 2005 को मैंने पहली बार इंडियन जर्सी पहनी थी. ये मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन था. आज मैं क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान करता हूं. मैं उन सभी को धन्यवाद करना चाहूंगा जिन्होंने मेरी इस यात्रा को संभव बनाया.

कुल 82 मैच खेले

आरपी सिंह ने अपने 6 साल के इंटरनेशनल करियर में सभी फॉर्मेट में कुल 82 मैच खेले और 100 से ज्यादा विकेट लिए. वह 2007 में टी 20 वर्ल्ड कप में भारत की जीत के हीरो रहे थे. ये टी 20 का पहला वर्ल्ड कप था और फाइनल में भारत का मुकाबला पाकिस्तान से हुआ था. इसके अलावा सिंह ने उसी साल पर्थ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया पर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

फैन पर उतरा गेंदबाज आरपी सिंह का गुस्सा, वीडियो देख हैरान रह जाएंगे

सिंह ने लिखा, मैंने एक छोटे से गांव में जन्म लिया और कभी ये नहीं सोचा था कि एक दिन में कह पाऊंगा कि मैंने अपना सपना पूरा कर लिया. और इसके लिए मैं आप सभी प्रशंसकों को धन्यवाद करना चाहूंगा. मुझ पर भरोसा करने के लिए. मेरी आलोचना करने के लिए और हमेशा मेरे साथ बने रहने के लिए. धन्यवाद.