स्‍पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) में बैन झेल रहे पूर्व तेज गेंदबाज एस श्रीसंत (S Sreesanth) सितंबर में फिर टीम इंडिया में खेलने के योग्‍य हो जाएंगे. बीसीसीआई द्वारा उनपर लगाया गया बैन खत्‍म होने वाला है. श्रीसंत को लगता है कि बैन हटने के बावजूद उनका भारतीय टीम में जगह बना पाना व्‍यवहारिक रूप से संभव नजर नहीं आता. Also Read - फिल्‍मों में डेब्‍यू करने जा रहे हैं हरभजन सिंह, सोशल मीडिया पर रिलीज किया पोस्‍टर, अगस्‍त में आएगी फिल्‍म

श्रीसंत भारत के लिए 27 टेस्‍ट, 53 वनडे और 10 टी20 मुकाबले खेल चुके हैं. न्‍यू वर्ल्‍ड से बातचीत के दौरान श्रीसंत ने कहा, “व्‍यवहारिक तौर पर मुझे नहीं लगता कि मैं वापसी कर पाऊंगा, लेकिन मेरे पिताजी ने मुझे जो कहा है मैं हमेशा उसका पालन करता हूं. उन्‍होंने मुझे कहा है कि जबतक तुम सांस ले रहे हो हार मत मानों.” Also Read - लॉकडाउन में बुर्जुग पिता कर रहे इस भारतीय विकेटकीपर की प्रैक्टिस में मदद

श्रीसंत ने कहा, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि केरल जैसे छोटे राज्‍य से आकर कभी भारत के लिए खेल पाऊंगा. भारत के इतिहास में भी केरल से ज्‍यादा खिलाड़ी नहीं हैं.” Also Read - जसप्रीत बुमराह ने लसिथ मलिंगा के लिए कहा कुछ ऐसा कि सुनकर गदगद हो जाएगा 'यॉर्कर किंग'

आईपीएल 2013 में स्‍पॉट फिक्सिंग के मामले में बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन बैन लगाया था. उन्‍होंने भारत के लिए आखिरी बार 2011 में क्रिकेट खेला है. मार्च 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत पर लगे आजीवन बैन को रद्द की दिया था. बाद में बीसीसीआई के ओंबड्समैन ने श्रीसंत की सजा को सात साल में तब्‍दील कर दिया था.