74 वें संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की हर तरफ आलोचना हो रही है. भारतीय क्रिकेट टीम के कुछ धुरंधरों ने इस भाषण में नफरत की बात करने के लिए इमरान खान की जम के फजीहत की है. टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “एंकर ने कहा की आप ब्रोंक्स के एक वेल्डर की तरह आवाज करते हैं. कुछ दिनों पहले यूएन में दयनीय भाषण के बाद, यह आदमी खुद को अपमानित करने के लिए नए तरीके खोज रहा है”.

इस ट्वीट के जवाब में भारतीय पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी इस भाषण को ‘बकवास’ कहते हुए लिखा, “वीरू, मैं ये  पिछले कुछ दिनों से देख रहा हूं और मैं स्तब्ध हूं. एक भाषण जो अनसुना है. एक ऐसी दुनिया जिसे शांति की जरूरत है, पाकिस्तान को एक देश के रूप में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है और इस मुल्क का पीएम इस तरह की बकवास बातें कर रहा है. ये वो क्रिकेटर इमरान खान नहीं है जिसे दुनिया जानती है. वो भाषण निहायत बेहूदा है”.

अपने भाषण में इमरान ने चीन के साथ तुलना करते हुए संयुक्त राज्य अमेरिका के बुनियादी ढांचे पर कटाक्ष किया और कहा “आपको चीन जाना होगा और उनके बुनियादी ढांचे के तरीके को देखना होगा”. इमरान ने अपने भाषण से अमेरिकी एंकरों में भी उग्र प्रतिक्रियाएं पैदा कर दी. एंकरों ने कहा, “आप पाकिस्तान के प्रधान मंत्री की तरह नहीं बोलते हैं, आप ब्रोंक्स के वेल्डर की तरह आवाज करते हैं.”

अपने UNGA भाषण के दौरान, इमरान खान ने कहा था, “यदि दोनों देशों के बीच एक पारंपरिक युद्ध शुरू होता है, तो कुछ भी हो सकता है. एक देश अपने पड़ोसी मुल्क से सात गुना छोटा है. वह क्या करेगा – या तो आत्मसमर्पण करे या अपनी स्वतंत्रता के लिए लड़े. मेरा विश्वास है कि हम लड़ेंगे और जब परमाणु-हथियार संपन्न देश अंत तक लड़ता है, तो यह सीमाओं से बहुत दूर चला जाता है. मैं तुम्हें चेतावनी दे रहा हूं. यह एक खतरा नहीं है, लेकिन इस बात की चिंता करें कि हम कहां जा रहे हैं. यदि ये कदम गलत साबित हो जाता है, तो आप सबसे अच्छे के लिए आशा करें लेकिन सबसे बुरे के लिए भी तैयार रहें.

इससे पहले भी भारतीय क्रिकेटरों ने इस भाषण का विरोध किया था. हरभजन सिंह, मोहम्मद शमी, इरफान पठान समेत कई खिलाड़ियों ने इमरान के “स्पोर्ट्समैनशिप” पर सवाल खड़े किए थे.

शमी और भज्जी ने UNGA के पिच पर पाक पीएम इमरान को किया बोल्ड, दी ये नसीहत