पाकिस्‍तान दौरे पर गई श्रीलंका की कमजोर टीम ने तीसरे और आखिरी वनडे मुकाबले में मेजबान टीम के सामने 298 रन का मजबूत लक्ष्‍य रखा. सलामी बल्‍लेबाज दनुष्‍का गुणातिलका ने 134 गेंद पर 133 रन की शानदार शतकीय पारी खेली. इस दौरान उन्‍होंने 16 चौके और एक छक्‍का लगाया. अंत में दासुन शनाका ने 24 गेंद पर 43 रन ठोककर दर्शकों का अच्‍छा मनोरंजन किया.

पढ़ें:- सुनील गावस्‍कर ने विराट की कार्यशैली पर उठाए गंभीर सवाल

श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला किया. सलामी बल्‍लेबाज दनुष्‍का गुणातिलका और अविष्‍का फर्नांडो 4(6) बतौर सलामी बल्‍लेबाज मैदान में आए. फर्नांडो तीसरे ही ओवर में महज चार रन का योगदान देने के बाद मोहम्‍मद आमिर की गेंद पर विकेट के पीछे सरफराज अहमद को कैच दे बैठे.

तीसरे नंबर पर खेलने आए कप्‍तान लाहिरू थिरिमाने 36(53) ने जिसके बाद गुणातिलका के साथ मिलकर टीम के स्‍कोर को 100 रन के पार पहुंचाया. मोहम्‍मद नवाज ने 20वें ओवर में लाहिरू को कॉट एंड बोल्‍ड किया. नए बल्‍लेबाज एंजेलो परेरा महज 13 रन का योगदान दे पाए. विकेटकीपर बल्‍लेबाज मिनोद भानुका 36(39) ने जिसके बाद गुणातिलका के साथ स्‍कोर बोर्ड को आगे बढ़ाने की जिम्‍मेदारी उठाई, लेकिन जब टीम का स्‍कोर 151 रन था, वो भी तालमेल की कमी के कारण रनआउट हो गए.

पढ़ें:- शतकवीर रोहित शर्मा बोले- पिछले दो साल से टेस्ट में ओपनिंग को तैयार था

32वें ओवर में गुणातिलका ने उस्‍मान शिनवारी की गेंद पर सिंगल लेकर अपना शतक पूरा किया. हालांकि 45वें ओवर में वो तेजी से रन बनाने के प्रयास में मोहम्‍मद आमिर की गेंद पर बोल्‍ड हो गए.

सातवें नंबर पर बल्‍लेबाजी के लिए आए दासुन शनाका अंत में टीम के लिए तेजी से रन बनाए. उन्‍होंने अपनी पारी में पांच चौके और तीन छक्‍के लगाए। और 24 गेंद पर 43 रन जड़ दिए.