श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कार्यवाहक कप्तान लाहिरू थिरिमाने ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में अपनी टीम के हारने के तरीके पर निराशा जताई।

पाकिस्तान को 10 साल बाद अपने घर में वनडे में मिली पहली जीत

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट पर 305 रन बनाए जिसके जवाब में श्रीलंका ने 10.1 ओवर में 28 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे।

मध्यक्र के बल्लेबाज शेहान जयसूर्या (96) और दासुन शनाका (68) ने इसके बाद छठे विकेट के लिए रिकॉर्ड 177 रन की साझेदारी की लेकिन इसके बावजूद श्रीलंका को 67 रन से हार का सामना करना पड़ा।

श्रीलंका के सात बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू पाए। पाकिस्तान के दौरे पर श्रीलंका के 10 सीनियर खिलाड़ी टीम के साथ नहीं आए हैं जिनमें अनुभवी तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा, एंजोलो मैथ्यूज और टेस्ट टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने आदि शामिल हैं। इन खिलाड़ियों ने पाकिस्तान में सुरक्षा का हवाला देते हुए जाने से मना कर दिया था।

थिरिमाने ने सोमवार को मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे लगता है कि हमने काफी खराब बल्लेबाजी की क्योंकि गेंद काफी मूव नहीं कर रही थी और कभी-कभी नीची रह रही थी। लेकिन हमें इस मैच के सकारात्मक पक्षों पर ध्यान देना होगा।’

विशाखापत्‍तनम टेस्‍ट के लिए भारतीय टीम का ऐलान, रिषभ की छुट्टी, अश्विन की हुई वापसी

कप्तान ने कहा, ‘उन्होंने (जयसूर्या और शनाका) हमें दिखाया कि हम बड़े लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम हैं। शुरुआत में इतने अधिक विकेट गंवाने का असर अंत में नतीजे पर पड़ा।’

तीन मैचों की सीरीज में मेजबान पाकिस्तान टीम 1-0 से आगे हो गई है। सीरीज का पहला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था। तीसरा और अंतिम वनडे दो अक्टूबर को खेला जाएगा। इसके तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेली जाएगी।