कराची। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने पीएसएल के दौरान स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के लिए बल्लेबाज खालिद लतीफ पर 10 लाख रुपये का जुर्माना और पांच साल का प्रतिबंध लगाया.

पीसीबी की तीन सदस्यीय पंचाट ने खालिद को क्रिकेट बोर्ड की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के सभी छह नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया. हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश असगर हैदर की अगुवाई वाली पंचाट ने बुधवार को यह संक्षिप्त आदेश जारी किया.

खालिद के वकील बद्र आलम ने हालांकि इस फैसले को एक सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि पंचाट इस तरह के निर्णय लेने के लिए अधिकृत नहीं है. 

बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए भेजा भारत के सबसे सफल कप्तान धोनी का नाम

बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए भेजा भारत के सबसे सफल कप्तान धोनी का नाम

उन्होंने कहा कि हम इस फैसले को स्वीकार नहीं करते और हमने पंचाट के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में इसे चुनौती देने के लिए अर्जी कर दी है. इसी पंचाट ने पिछले महीने पाकिस्तान के एक अन्य बल्लेबाज शारजील खान पर पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग करने के लिए पांच साल का प्रतिबंध लगाया था.