नई दिल्ली.  साउथ अफ्रीका के ऑलराउंडर एंडिल फिलक्वायो पर की नस्लीय टिप्पणी को लेकर पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने माफी मांग ली है. सरफराज ने ये टिप्पणी डरबन में खेले दूसरे वनडे मैच के दौरान की थी. पाक क्रिकेट टीम के कप्तान ने ट्विटर पर अपने माफीनामें को व्यक्त किया, जिसके मुताबिक उनका मकसद किसी खास व्यक्ति भी भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था. बता दें, कि सरफराज ने अपने किए की माफी तो मांगी लेकिन अपने ट्वीट में उन्होंने कहीं भी एंडिल फिलक्वायो का नाम नहीं लिया, जिस पर नस्लीय टिप्पणी करने का उन पर आरोप लगा है.

डरबन वनडे में जब साउथ अफ्रीका की पारी का 37वां ओवर चल रहा था उसी दौरान सरफराज ने विकेट के पीछे से बल्लेबाजी कर रहे फिलक्वायो को लेकर जो कहा वो सारी बाते स्टंप माइक में कैद हो गईं, जिससे उनकी पोल खुल गई. सरफराज ने उर्दू कहा था- अबे काले, तेरी अम्मी आज कहां बैठी हैं? क्या परवा के आया है आज?

PCB हुआ शर्मिंदा

अब सरफराज चाहे बेशक ये कहते चलें कि ये किसी व्यक्ति विशेष को लेकर नहीं था लेकिन उनकी ये टिप्पणी थी तो फिलक्वायो पर ही. क्योंकि, वहां काला कौन था और कौन उनकी नाक में दम किए था ये सभी जानते हैं. बहरहाल, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भी सरफराज की हरकत पर एक स्टेटमेंट जारी कर खेद जताया है और ऐसी किसी भी घटना को बढ़ावा देने से इंकार किया है.


 ICC के फैसले का इंतजार

उधर, अब सबकी निगाहें ICC पर टिक गई हैं. पाक कप्तान ने अपने किए की माफी जरूर मांगी है लेकिन ICC ने इस मामले पर अपना रुख अभी साफ नहीं किया है. सरफराज ICC कोड ऑफ कंडक्ट के 2.1.1 नियम के दोषी हैं. अगर ICC सरफराज के माफीनामे से संतुष्ट नहीं नजर आता तो वो इसके लिए उनपर 4 टेस्ट का बैन लगा सकता है.