पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने कहा कि वह काफी कड़ा प्रशिक्षण ले रहे हैं एक बार फिर अपना करियर शुरू करने के लिए तैयार हैं। आमिर पर साल 2010 में स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के लिए पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया था। उनका प्रतिबंध हालांकि समय से पहले समाप्त कर दिया गया और अब वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने जा रहे हैं।

‘डेली मेल डॉट को डॉट यूके’ के अनुसार आमिर ने अपने बयान में कहा, “मैं अपने आप को फिट रखता हूं और कड़ा अभ्यास कर रहा हूं। मैं रोजाना एक घंटे तक गेंदबाजी का प्रशिक्षण करता हूं और दो घंटे जिम में बिताता हूं। मैं आश्वस्त हूं कि मैं पहले वाला गेंदबाज बनूंगा।”

आमिर ने 14 टेस्ट मैचों में 50 विकेट लिए हैं।

आमिर के साथ 2010 की मैच फिक्सिंग में उस वक्त के कप्तान सलमान भट्ट और वरिष्ठ गेंदबाज मोहम्मद आसिफ को भी दोषी पाया गया।

जहां सलमान और आसिफ पर हमेशा के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया वहीं आमिर को उनकी उम्र और प्रतिभा के कारण पांच साल के लिए प्रतिबंधित किया गया।

आमिर ने कहा कि वह बीते वक्त को वापस नहीं ला सकते लेकिन आने वाले अवसरों को बेहतर तौर पर इस्तेमाल करने का प्रयास कर सकते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने समय से पहले आमिर पर लगे प्रतिबंध को समाप्त कर दिया और अब वह पाकिस्तान की टीम से खेलने के लिए तैयार हैं।

वह अक्टूबर में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में इंग्लैंड के खिलाफ वापसी करेंगे। आमिर ने अपनी समय से पहले की वापसी के लिए आईसीसी का धन्यवाद किया।