कराचीः प्रतिबंधित पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ को पूरे दस्तावेज नहीं होने के कारण दुबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर प्रवेश करने से रोक दिया गया. उन्हें आव्रजन अधिकारियों ने दस्तावेज पूरे नहीं होने के कारण हवाई अड्डे के अंदर नहीं जाने दिया. आसिफ ने पुष्टि की कि उन्हें इसके कारण दुबई से स्वदेश लौटने की फ्लाइट लेनी पड़ी. उन्होंने कहा कि मेरे पास उनके विदेश मामलों के मंत्रालय का विशेष पत्र नहीं था जिसकी मुझे दुबई में प्रवेश करने के लिए जरूरत होती है. Also Read - B'day Special: पाकिस्तान का वो बल्लेबाज जिसके छक्के ने भारतीय खिलाड़ी को बना दिया 'विलेन'

आसिफ ने कहा कि उन्हें संयुक्त अरब अमीरात के दौरे के लिए एक वीजा जारी किया गया था जहां उन्हें शारजाह में एक टी-20 टूर्नामेंट खेलने के लिए आमंत्रित किया गया था. उन्होंने कहा, ‘आयोजकों ने अब कहा है कि वे इस पत्र का इंतजाम करेंगे, जिसके बाद मैं शायद वहां जाकर इस टूर्नामेंट में खेल सकूं. Also Read - पाकिस्तानी क्रिकेटर इमाम-उल हक के हैं कई अफेयर्स! ट्विटर पर लीक हुआ चैट

मोहम्मद आसिफ ने 2 जनवरी 2005 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था. उन्होंने 23 टेस्ट मैचों की 44 पारियों में 2.99 की इकॉनमी के साथ 106 विकेट लिए हैं. वहीं 38 वनडे मैचों में आमिर 46 विकेट झटके चुके हैं. इस राइट आर्म फास्ट मीडियम गेंदबाज ने 11 टी20 अतंर्राष्ट्रीय में 13 बल्लेबाजों को पवेलियन लौटाया है. आमिर 99 प्रथम श्रेणी मैचों में 423 शिकार कर चुके हैं. Also Read - स्पॉट फिक्सिंग मामले में पाकिस्तानी बल्लेबाज नासिर जमशेद पर 10 साल का प्रतिबंध

आसिफ 2011 में इंग्लैंड दौरे में स्पॉट फिक्सिंग के केस में फंस चुके हैं. आसिफ मैच के दौरान जानबूझकर नो-बॉल फेंकने के दोषी पाए गए थे, जिसके चलते उन्हें 7 साल के लिए बैन कर दिया गया था. आसिफ पर इसके साथ ही धोखाधड़ी का आरोप भी लगा था, जिसके चलते उन्हें 1 साल तक जेल में रहना पड़ा.