नई दिल्ली : महान तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने कहा कि विश्व कप के पहले मुकाबले में वेस्टइंडीज के हाथों शुक्रवार को ट्रेंट ब्रिज में मिली करारी शिकस्त के बाद पाकिस्तान को कमतर आंकना मूर्खता होगी. वकार ने हालांकि कहा कि उनका यह मतलब नहीं है कि टूर्नामेंट में खराब शुरूआत की तुलना 1992 के प्रदर्शन से की जा सकती है जब पाकिस्तान ने खराब शुरूआत के बाद अपना पहला विश्व कप का खिताब जीता था. Also Read - पाकिस्तान की अदालत ने मुंबई हमले के षडयंत्रकर्ता हाफिज सईद के तीन सहयोगियों को सुनाई सजा

Also Read - Desert Knight 21: आसमान में पहली बार गरजे राफेल, भारत-फ्रांस की एयरफोर्स ने किया युद्धाभ्यास

वकार ने आईसीसी के लिए लिखे कॉलम में कहा, ‘‘आपको याद रखना होगा कि यह विश्व कप बहुत लंबा टूर्नामेंट है. अभी भी बहुत क्रिकेट खेला जाना बाकी है और वेस्टइंडीज से हारने के बाद पाकिस्तान को कम आंकना मूर्खता होगी.’’ Also Read - चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा- वित्तीय आंकड़ों का जानें क्या है गणित...

वकार ने पाकिस्तान की पारी के 105 रन पर समेटने की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘ पाकिस्तानी बल्लेबाजों के खिलाफ शॉट पिच गेंद का सही इस्तेमाल करने के लिए आपको वेस्टइंडीज के गेंदबाजों को श्रेय देना होगा.’’

आर्चर की ‘स्पीड’ के फैन हुए मोईन अली, बताया अब तक सबसे फास्ट बॉलर

उन्होंने कहा, ‘‘ खासकर आंद्रे रसेल ने अपने पहले तीन ओवरों में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के खिलाफ शानदार गेंदबाजी की. उन्हें सिर्फ दो सफलता मिली लेकिन उन्होंने बाकी के गेंदबाजों को रास्ता दिखा दिया.’’

पाकिस्तान के 47 साल के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि टीम की अनिश्चितत प्रदर्शन वाली प्रकृति के बारे में ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं. उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने 1992 विश्व कप के पहले मैच में करारी शिकस्त झेलने के बाद शानदार वापसी की और विजेता बने. लेकिन आप बीते समय के रिकार्ड पर निर्भर नहीं रह सकते जो 27 साल पहले हुआ था. 2019 में टूर्नामेंट जीतने के लिए टीम को कड़ी मेहनत करनी होगी.’’

वकार ने कहा, ‘‘इस तरह की हार से आत्मविश्वास कम होता है और हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम अपना समय वापसी के बारे में सोचने पर लगाये. सकारात्मक सोचे और खेल का रूख बदले.’’