नई दिल्ली. पाकिस्तान क्रिकेट सफलता के नए आयाम गढ़ने वाली टीम इंडिया के जैमी फॉर्मूले को आजमाने का मन बना रही है. उसका इरादा इस फॉर्मले की तर्ज पर अपना फॉर्मूला बनाने की है. ये फॉर्मूला क्या है, कैसा है और पाकिस्तान इसका इस्तेमाल कैसे करने वाला है, ये समझने से पहले इस बात को जान लीजिए कि जैमी फॉर्मूला आखिर है क्या. दरअसल, इसका ताल्लुक राहुल द्रविड़ से है, जिनका निक नेम जैमी है. पाकिस्तान टीम इंडिया के इस जैमी फॉर्मूले यानी कि भारतीय क्रिकेट पर राहुल द्रविड़ के असर से इतना इंस्पायर हुआ कि अब उसने भी अपने देश के युवा क्रिकेटरों को निखारने के लिए कुछ पूर्व क्रिकेटरों को इस काम में लगाना चाहा है. Also Read - India vs Australia: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टी20 से पहले संजू सैमसन ने साथी खिलाड़ियों को दी ये अहम सलाह

Also Read - Ravindra Jadeja ruled out: भारतीय टीम को लगा बड़ा झटका, टी20 सीरीज से बाहर हुए रविंद्र जडेजा; इस खिलाड़ी को मिली जगह

पाकिस्तान पर राहुल द्रविड़ का असर Also Read - India vs Australia: T20 मैच से पहले कैप्टन विराट कोहली संग कॉफी कैफे पहुंचे ये खिलाड़ी, देखें तस्वीर

इस बात का अनुमान है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड युनिस खान को पाकिस्तान की अंडर 19 टीम का कोच और मैनेजर बना सकता है. ये रोल ठीक वैसा ही होगा कि जैसा भारत की अंडर 19 टीम में राहुल द्रविड़ का है. पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले युनिस खान पाकिस्तान के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. यही नहीं वो टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान के पहले दस हजारी भी हैं. युनिस ने पाकिस्तान के अंडर 19 टीम का कोच बनने की इच्छा तो जताई है पर इस शर्त पर कि PCB उनके मामले में हस्तक्षेप नहीं करेगा.

वर्ल्ड कप 2019: भारत से 6 बार मिली हार का बदला लेगा पाकिस्तान, पूर्व खिलाड़ी की चेतावनी

PCB का मास्टर प्लान

PCB के चेयरमैन एहसान मनी ने कहा, “ऑस्ट्रेलिया अपने पूर्व क्रिकेटरों जैसे रोडनी मार्श, एलन बॉर्डर और रिकी पॉन्टिंग की मदद यंग टैलेंट को सजाने और संवारने में लेता रहा है. भारत ने इस काम के लिए राहुल द्रविड़ को नियुक्त कर रखा है और इसका इन टीमों को बेहतर रिजल्ट भी मिला है. ” ऑस्ट्रेलिया और भारत की इसी सफलता से अब पाकिस्तान भी प्रेरित है. लाहौर में किए प्रेस कॉन्फ्रेंस में PCB ने कहा कि उनके देश में भी महान खिलाड़ियों की कमी नहीं है जिनका अनुभव देश के युवा क्रिकेटरों को निखारने के काम आ सकता है. इसके अलावा PCB मोहम्मद युसूफ को नेशनल क्रिकेट एकेडमी का बैटिंग कोच बनाने पर भी विचार कर रहा है.