नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया में इस बार टीम इंडिया के पास टेस्ट सीरीज जीतने का सुनहरा मौका है, जिसे वो अच्छे से भुनाती भी दिख रही है और भुनाना भी चाहिए क्योंकि सवाल सिर्फ खुद का नहीं बल्कि भारतीय उपमहाद्वीप की सभी टीमों का है. दरअसल, ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना सिर्फ टीम इंडिया का ही नहीं रहा है बल्कि उसकी तरह पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश का भी रहा है. भारत की तरह इन सभी टीमों ने भी जीत का सपना लिए ऑस्ट्रेलिय के कई दौरे किए लेकिन हर बार उन्हें मुंह की खाकर वापस लौटना पड़ा.

सबका बदला लेगा भारत!

भारतीय उपमहाद्वीप की सभी टीमों ने मिलकर ऑस्ट्रेलिया में अब तक 30 टेस्ट सीरीज खेली, जिसमें 24 सीरीज में उन्हें हार का सामना करना पड़ा और जो 6 टेस्ट सीरीज बच गई वो ड्रॉ रहे. लेकिन, एडिलेड में खेले जा रहे मौजूदा टेस्ट सीरीज के पहले ही मैच में मेजबान ऑस्ट्रेलिया का जो हाल है उसे देखकर लगता है कि इस बार टीम इंडिया न सिर्फ अपना बल्कि उपमहाद्वीप की सभी टीमों का हिसाब बराबर करेगी.

ऑस्ट्रेलिया को हराने से पहले ही छाए विराट कोहली, टेस्ट कप्तानी में हासिल की ये उपलब्धि

पहली बार जीतो पहला टेस्ट

भारत अगर एडिलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हरा देता है, जिसकी उम्मीद भी है, तो ये पहली बार होगा जब वो ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज का पहला मैच जीतेगा. इससे पहले खेले 11 ओपनिंग टेस्ट मैच में भारत 9 हारा है जबकि 2 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया को हराओ पहला टेस्ट

अगर ऑस्ट्रेलिया एडिलेड में टेस्ट सीरीज का पहला मैच गंवाती है तो ये पिछले 3 सीजंस में तीसरी बार होगा जब उनके घरेलू समर की शुरुआत हार के साथ होगी. इससे पहले 2016-17 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पर्थ में खेले टेस्ट सीरीज के पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा था वहीं उससे पहले उन्हें 1988-89 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ब्रिस्बेन में खेले पहले टेस्ट में हार मिली थी.