पाकिस्तान ने शानदार प्रदर्शन करते हुए बुधवार को खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी के मैच में दुनिया की नंबर एक टीम दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुइस नियम के आधार पर 19 रन से हरा दिया. वर्षा प्रभावित इस मैच में पाकिस्तान ने पहले तो अपनी दमदार गेंदबाजी के दम पर दक्षिण अफ्रीका को 219 रनों पर रोका और फिर बारिश की वजह से खेल रोके जाने तक 27 ओवर में 3 विकेट पर 119 रन बनाए और डकवर्थ लुइस नियम के हिसाब से उस समय 19 रन ज्यादा बनाने के कारण मैच 19 रन से जीत लिया. 27वें ओवर में बारिश के कारण खेल रुकने के बाद दोबारा खेल नहीं शुरू हो सका और पाकिस्तान को विजेता घोषित कर दिया गया.

220 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम को अपना पहला वनडे खेल रहे फखर जमान ने 23 गेंदों में 31 रन की पारी खेली और अजहर अली के साथ मिलकर पहले विकेट की साझेदारी में 7.2 ओवरों में 40 रन जोड़ते हुए तेज शुरुआत दिलाई. मोर्कल ने एक ही ओवर में जमान और अजहर अली (9) को आउट करके पाकिस्तान को दो लगातार झटके दिए. पहले दो विकेट जल्दी गिरने के बाद आजम और हफीज ने तीसरे विकेट के लिए 52 रन जोड़कर टीम को को संभाला.

पाकिस्तान का तीसरा विकेट 93 के स्कोर पर मोहम्मद हफीज (26) के रूप में गिरा. इसके बाद 27वें ओवर में खेल रुकने तक आजम और शोएब मलिक ने चौथे विकेट के लिए 3.4 ओवरों में 26 रन की अविजित साझेदारी करते हुए स्कोर 3 विकेट पर 119 रन तक पहुंचा दिया जोकि बाद में पाकिस्तान की 19 रन से जीत की वजह बना. बाबर आजम 51 गेंदों में 31 और शोएब मलिक 14 गेंदों में 16 रन बनाकर नाबाद रहे.

24 रन देकर 3 विकेट लेने वाले पाकिस्तानी गेंदबाज हसन अली को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया (icc)

24 रन देकर 3 विकेट लेने वाले पाकिस्तानी गेंदबाज हसन अली को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया (icc)

 

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बैटिंग के लिए उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम पाकिस्तानी गेंदबाजों हसन अली, इमाद वसीम और जुनैद खान की शानदार गेंदबाजी की बदौलत 50 ओवर में 8 विकेट पर 219 रन ही बना सकी. दक्षिण अफ्रीका के लिए डेविड मिलर ने 104 गेंदों में 75 रन की नाबाद पारी खेलते हुए दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 219 रन तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई.

पाकिस्तान के लिए हसन ने 24 रन देकर सबसे अधिक तीन विकेट लिए जबकि इमाद वसीम ने 20 रन देकर दो विकेट, जुनैद खान ने 53 रन दो और मोहम्मद हफीज ने एक विकेट लिया.

दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत बेहद धीमी रही और ओपनरों क्विंटन डी कॉक (33) और हाशिम अमला (16) की सलामी जोड़ी पहले विकेट के लिए 8.2 ओवरों में सिर्फ 40 रन ही बना सकी. वसीम ने अमला को आउट कर पाकिस्तान को पहली सफलता दिलाई. इसके बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम लगातार विकेट खोती रही. अमला के बाद डी कॉक 60 के कुल स्कोर पर मोहम्मद हफीज का शिकार बने. टीम के खाते में एक रन ही जुड़ा था कि एबी डिविलियर्स को वसीम ने खाता भी नहीं खोलने दिया और हफीज के हाथों उन्हें कैच करा पाकिस्तान को बड़ी सफलता दिलाई.

एक समय दक्षिण अफ्रीका के 6 विकेट 118 रन के स्कोर तक गिर गए थे. डु प्लेसिस (26), जेपी डुमिनी (8), वेन पर्नेल बिना खाता खोले आउट हो गए. सातवें विकेट के लिए मिलर और क्रिस मौरिस (28) ने 47 रन की साझेदारी कर दक्षिण अफ्रीका को मुश्किल से उबारने की कोशिश की. मौरिस के आउट होने के बाद मिलर ने कगीसो रबादा के साथ मिलकर आठवें विकेट के लिए 48 रन जोड़े. रबादा ने 23 गेंदों की पारी में दो चौके लगाए. वह 213 के स्कोर पर जुनैद का दूसरा शिकार बने.