पाकिस्तान सरकार ने वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम को टी20 विश्व कप जिताने वाले  पूर्व कप्तान डैरेन सैमी को देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी में भूमिका निभाने के लिए मानद नागरिकता और पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिकता सम्मान ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ से सम्मानित करने का ऐलान किया है। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी 23 मार्च को मानद नागरिकता और पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान निशान ए हैदर से सम्मानित करेंगे। Also Read - Zimbabwe vs Pakistan, 1st Test: पहले टेस्ट मैच में पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे को पारी से हराया, तीन दिन के अंदर जीता मैच

इस खबर पर सैमी ने कहा, “चाहे पासपोर्ट हो या ना हो, मैंने इस देश के लिए जो भी किया है वो दिल से किया है। मुझे पाकिस्तान से खुद को जोड़ने के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं है।” Also Read - Pakistan Covid Updates: पाकिस्तान में कोविड-19 से एक दिन में सबसे अधिक 201 लोगों की मौत

सैमी पांचवें पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) में पेशावर जालिमी की अगुवाई कर रहे हैं। सैमी पीएसएल में शुरू से खेल रहे हैं और उन्होंने देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी में अहम भूमिका निभाई। Also Read - Zimbabwe vs Pakistan, 3rd T20I: शतक से चूके Mohammad Rizwan, पाकिस्तान ने 2-1 से जीती सीरीज

पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान डगआउट में इस्तेमाल हुआ मोबाइल; डीन जोन्स ने बताई असली वजह

साल 2017 में जब अधिक विदेशी खिलाड़ियों ने सुरक्षा चिंताओं के कारण लाहौर में पीएसएल फाइनल खेलने से मना कर दिया था तब सैमी ने इस पर सहमति जताई थी। पेशावर ने तब उनकी अगुवाई में खिताब जीता था। वो पाकिस्तान में काफी लोकप्रिय हैं।

सैमी तीसरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर होंगे जिन्हें किसी देश की मानद नागरिकता दी जाएगी। उनसे पहले ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन और दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स को सेंट कीट्स सरकार ने विश्व कप 2007 के बाद अपने देश की मानद नागरिकता दी थी।