इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB0 अगले महीने तीन टेस्ट मैचों के लिए वेस्टइंडीज (West Indies) टीम की मेजबानी कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की दोबारा शुरूआत करने जा रहा है। इसके बाद ईसीबी की योजना ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और आयरलैंड की मेजबानी करने की है। लेकिन इस बीच पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चिकित्सा अधिकारी ने बयान दिया है कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान टीम का इंग्लैंड दौरा पाक टीम के लिए ‘बड़ा जोखिम’ हो सकता है।Also Read - ICC T20 Men's Team Of The Year: ICC ने चुने तीन पाकिस्तानी खिलाड़ी, भारत से कोई नहीं, Babar Azam कप्तान

पीसीबी के चिकित्सा और खेल विज्ञान के महानिदेशक डा. सोहेल सलीम ने कहा, ‘‘महामारी के दौरान ये (दौरा) एक बड़ा जोखिम है। हमने ऐसा अनुभव (महामारी के दौरान खेलना) नहीं किया है, लेकिन दोनों टीमों के लिए ये नया अनुभव होगा। महामारी का मतलब ही खतरा होता है, लेकिन उन्हें (खिलाड़ियों) लोगों का मनोरंजन कराने वाला माना जाता है।’’ Also Read - BBL 2022: पाकिस्तान के युवा तेज गेंदबाज के बॉलिंग एक्शन पर उठे सवाल, अब लाहौर में होगा टेस्ट

सलीम ने कहा कि यूरोप में फुटबॉल शुरू होने से उन्हें प्रोत्साहन मिला, जहां जर्मनी में बुंदेसलीगा और इंग्लैंड में प्रीमियर लीग के मैचों को खाली स्टेडियमों में खेला जा रहा। उन्होंने कहा, ‘‘फुटबॉल मैच के दौरान प्रशंसक नहीं रह रहे है और क्रिकेट स्टेडियमों में भी दर्शक नहीं होंगे। घर बैठे लोगों की चिंता का स्तर बढ़ रहा है, लेकिन क्रिकेट इसे कम कर सकता है।’’ Also Read - Unmukt Chand ने रचा इतिहास, Big Bash League में खेलने वाले पहले भारतीय

पाकिस्तान की टीम रविवार को इंग्लैंड रवाना होगी, जहां उसे अगस्त-सितंबर में तीन टेस्ट और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय खेलना है। पीसीबी इस दौरे के लिए 29 खिलाड़ियों के दल को भेज रहा है ताकि कोरोना वायरस के चपेट में किसी के आने बाद उसके जगह दूसरे को टीम में शामिल किया जा सके।

सभी 29 खिलाड़ियों का यहां से लंदन रवाना होने से पहले दो बार कोविड-19 जांच होगा। टीम वहां जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में अभ्यास करेगी। सलीम ने कहा, ‘‘इंग्लैंड में हर पांच-सात दिन के बाद खिलाड़ियों की जांच की जाएगी।’’