भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) ने बुधवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास (Parthiv Patel Retirement) ले लिया. अब वह आईपीएल समेत किसी भी स्तर पर कोई भी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेलेंगे. पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने इस खिलाड़ी की जमकर तारीफ की है. उन्होंने कहा, ‘पार्थिव भारतीय क्रिकेट के शानदार एम्बेस्डर रहे हैं. वह हमेशा टीम मैन के तौर पर खेले.’ Also Read - भारतीय टीम में है अधिक बर्दाश्‍त करने की शक्ति, Sourav Ganguly ने ऑस्‍ट्रेलिया के इस हालिया प्रकरण की दिलाई याद

गांगुली ने पार्थिव के उस दौरे को याद किया, जब साल 2002 में उन्होंने गांगुली की ही कप्तानी में अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी. पार्थिव ने नॉटिंग्म टेस्ट (इंग्लैंड) में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था. गांगुली ने कहा उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था, तब उनकी कप्तानी करना मेरे लिए अच्छा अनुभव था. Also Read - Sourav Ganguly का बड़ा बयान, बोले- कप्तानी से हटाने के बाद टीम से बाहर होना 'सबसे बड़ा झटका'

बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष गांगुली ने कहा, ‘उनकी मेहनत ने उन्हें इंटरनेशनल और घरेलू क्रिकेट में काफी नाम दिलाया. मैं उन्हें शानदार करियर के लिए बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं.’ Also Read - BCCI अध्यक्ष Sourav Ganguly ने बायो-बबल को बताया चुनौतीपूर्ण, भारतीय खिलाड़ियों को लेकर कही ये बात

दादा ने पार्थिव के घरेलू क्रिकेट में किए योगदान को भी याद किया. उन्होंने कहा, ‘रणजी ट्रॉफी फाइनल में उन्होंने जो प्रदर्शन किया था और गुजरात को पहली बार खिताब दिलाया था उसे गुजरात क्रिकेट में हमेशा याद रखा जाएगा.’

पार्थिव ने अपनी कप्तानी में गुजरात को रणजी चैंपियन बनाया था. 35 वर्षीय पटेल ने 194 फर्स्ट क्लास मैच खेलकर 11,240 रन बनाए हैं, जिनमें 27 शतक और 62 अर्धशतक भी शामिल हैं.