साल 2018 के बाद से भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) दिग्गज क्रिकेट महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के समय में खेलने के लिए खुद को बदकिस्मत नहीं मानते। पटेल का कहना है कि धोनी ने उन्हें मिले मौकों का बेहतर फायदा उठाया। Also Read - वीवीएस लक्ष्मण ने बताया रोहित शर्मा के IPL में बतौर कप्तान सफल होने का राज

साल 2016 में गुजरात टीम को रणजी ट्रॉफी खिताब जिताने वाले पटेल आखिरी बार जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर खेले गए जोहान्सबर्ग टेस्ट के दौरान भारतीय टीम में नजर आए थे। Also Read - 'मेरे लिए क्रिकेट के डॉन हैं MS Dhoni, इन्हें पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है'

फीवर नेटवर्क के 100 ऑवर्स 100 स्टार्स शो के दौरान पटेल ने कहा, “धोनी के समय में खेलने की वजह से मैं खुद को बदकिस्मत नहीं मानता हूं। मैंने उससे पहले करियर शुरू किया था और मुझे उससे पहले मौके मिले थे।” Also Read - अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण ने इस साल IPL आयोजन की उम्मीद जताई, जानिए पूरी डिटेल

35 साल के भारतीय क्रिकेटर ने कहा, “धोनी टीम में आया क्योंकि मेरी कुछ सीरीज खराब गईं और मुझे ड्रॉप किया गया। मुझे पता है कि लोग सांत्वना दिखाने के लिए कहते हैं कि मैं गलत समय में पैदा हुआ लेकिन मैं ऐसा नहीं मानता।”

पूर्व भारतीय कप्तान के बारे में पटेल ने कहा, “धोनी ने जो कुछ भी हासिल किया है वो बहुत, बहुत खास है और उसने खुद को मिले मौकों का फायदा उठाकर ये सब हासिल किया है। मैं खुद को बदकिस्मत नहीं मानता।”पार्थिव पटेल ने अगस्त 2002 में भारतीय टीम के लिए टेस्ट डेब्यू किया था।