भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को टेस्ट विशेषज्ञ के रूप में देखा जाता है. पुजारा ने खुद को टेस्ट टीम में स्थापित कर लिया है. उन्हें टीम इंडिया की ‘नई दीवार’ के रूप में देखा जाने लगा है. क्योंकि मिडिल ऑर्डर में उतरकर पुजारा भारतीय पारी को संभालने का माद्दा रखते हैं. विश्व के नंबर एक ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस का कहना है कि टेस्ट क्रिकेट में पुजारा को गेंदबाजी करना सबसे मुश्किल है और उन्होंने भारत के मध्यक्रम के बल्लेबाज को अपनी टीम के लिए सबसे बड़ा सरदर्द करार दिया. Also Read - Team India टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर कायम, कोच Ravi Shastri ने लिखा इमोशनल मैसेज

नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हैं पुजारा Also Read - रविवार को अपने वतन लौट सकते हैं आईपीएल में हिस्सा लेने आए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

पुजारा नंबर तीन पर अपनी ठोस बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने 2018-19 में भारत की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाई थी. Also Read - Rahul Dravid के मुरीद हुए Greg Chappell, तारीफ में कही ये बातें

कमिंस से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स संघ (एसीए) द्वारा आयोजित सवाल जवाब के कार्यक्रम में जब पूछा गया कि किस बल्लेबाज को गेंदबाजी करना सबसे मुश्किल लगता है तब उन्होंने पुजारा का नाम लिया.

उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्य से ऐसे कई बल्लेबाज हैं. लेकिन मैं एक ऐसे बल्लेबाज का नाम लूंगा जो सबसे हटकर है और वह भारत का (चेतेश्वर) पुजारा है. वह हमारे लिए असली सिरदर्द था.’

‘चट्टान की तरह खड़ा हो जाते हैं पुजारा’

कमिंस ने याद किया कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को पुजारा को आउट करने में कैसी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था. उन्होंने कहा, ‘वह (पुजारा) सीरीज में उनकी तरफ से चट्टान की तरह खड़ा हो जाता. उसे आउट करना बेहद मुश्किल था. वह दिन प्रतिदिन गजब की एकाग्रता बनाए रखता था. मेरा मानना है कि टेस्ट क्रिकेट में उसे आउट करना सबसे मुश्किल है.’

पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौर में 3 शतक और 1 अर्धशतक की मदद से 521 रन बनाए थे जिससे भारत पहली बार ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने में सफल रहा था.

पुजारा को इस सीरीज में मैन ऑफ द सीरीज चुना गया था. उन्होंने साबित किया कि एक खिलाड़ी अपने धैर्य और एकाग्रता से सारा अंतर पैदा कर सकता है.