नई दिल्ली : अपनी कप्तानी में वर्ष 2010 में इंग्लैंड को टी-20 का विश्व चैम्पियन बना चुके पूर्व कप्तान पॉल कॉलिंगवुड ने गुरुवार को क्रिकेट के सभी प्रारुपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी. 42 साल के कॉलिंगवुड घरेलू सीजन-2018 की समाप्ति के बाद अपने 22 साल के करियर को विराम देंगे. उन्होंने इस सीजन में इंग्लैंड की घरेलू टीम डरहम के लिए सर्वाधिक रन बनाए हैं. आईसीसी की रिपोर्ट के अनुसार, हरफनमौला खिलाड़ी कॉलिंगवुड ने 26 सीजन में से 23 में डरहम क्लब का प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने 304 प्रथम श्रेणी मैचों में कुल 16844 रन बनाए और 164 विकेट हासिल किए. वह अब काउंटी चैम्पियनशिप में 24 सितंबर से मिडलसेक्स के खिलाफ होने वाले मैच में आखिरी बार मैदान पर उतरेंगे.

वर्ष 2001 में पाकिस्तान के खिलाफ वनडे से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले कॉलिंगवुड ने इंग्लैंड के लिए 68 टेस्ट, 197 वनडे और 36 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने क्रमश : 4259, 5092 और 583 रन बनाए हैं.

एशिया कप 2018: पाकिस्तान को धूल चटाने के लिए काफी हैं टीम इंडिया के ये करिश्माई गेंदबाज

क्रिकेट के मैदान पर बैकवर्ड प्वाइंट के सर्वश्रेष्ठ फिल्डर माने जाने वाले कॉलिंगवुड ने अपनी कप्तानी में वर्ष 2010 में इंग्लैंड को टी-20 का चैम्पियन बनाया था. इसके अलावा उन्होंने इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक 197 वनडे मैच खेले हैं जिसमें पांच शतक और 26 अर्धशतक बनाए हैं.

एशिया कप 2018: टूर्नामेंट में दमदार प्रदर्शन को बरकरार रखेंगे जसप्रीत बुमराह

इंग्लिश मैन के नाम से मशहूर कॉलिंगवुड ने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा, ” मुझे पता था कि यह समय एक दिन आएगा. लेकिन यह आसान नहीं था. हालांकि यह मेरा भावनात्मक निर्णय है और मुझे पता है कि संन्यास लेने का यह सही समय है.”

उन्होंने कहा, “मुझे यह जानकर खुशी महसूस होती है कि मैंने आखिरी समय तक खेल के लिए सबकुछ किया. मैंने डरहम और इंग्लैंड के साथ इतना कुछ हासिल किया है जिसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी.”