पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने एंटी करप्शन कोड तोड़ने के उल्लंघन करने के आरोप में उमर अकमल (Umar Akmal) को तीन साल के लिए बैन किया। बोर्ड के मीडिया विभाग ने सोमवार को अपने आधिकारिक अकाउंट के जरिए इसकी जानकारी दी। पीसीबी निदेशक (भ्रष्टाचार निरोधक और सुरक्षा) आसिफ महमूद ने कहा कि बोर्ड अकमल जैसे खिलाड़ी के तीन साल तक क्रिकेट से दूर रहने से खुश नहीं है लेकिन वो इस बाकी खिलाड़ियों के लिए सबक बनाना चाहते हैं। Also Read - PSL की कमाई से Umar Akmal का जुर्माना भरेंगे भाई Kamran Akmal!

महमूद ने कहा, ‘‘पीसीबी को इसमें कोई खुशी नहीं मिल रही कि एक चमकता हुआ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर तीन साल के लिए खेल नहीं सकेगा। लेकिन एक बार फिर ये उन लोगों के लिये सबक है जो ये सोचते हैं कि भ्रष्टाचार निरोधक संहिता तोड़ने पर वे बच जाएंगे।’’ Also Read - कोविड-19 की वजह से भारतीय क्रिकेटर चेतन सकारिया के पिता का निधन

उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी पेशेवर क्रिकेटरों से भ्रष्टाचार से दूर रहने की अपील करता हूं और उन्हें चाहिए कि सटोरियों द्वारा संपर्क किये जाने की सूचना तुरंत अधिकारियों को दें।’’ Also Read - इन चार कारणों की वजह से स्थगित हुआ IPL 2021; क्यों भारत में UAE जैसा सफल आयोजन नहीं कर सकी BCCI?

मूर्खों की जमात में शामिल हुए अकमल

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा (Rameez Raza) ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मैच फिक्सिंग को अपराध का दर्जा देने का समय आ गया है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘तो उमर अकमल भी आधिकारिक तौर पर मूर्खों की जमात में शामिल। तीन साल का प्रतिबंध। अपनी प्रतिभा को कैसे बर्बाद किया। पाकिस्तान को अब मैच फिक्सिंग को अपराध घोषित कर देना चाहिए और ऐसे लोगों को जेल में डालना चाहिए।’’