पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज यूनिस खान (Younis Khan) के नेशनल टीम से बल्लेबाजी कोच के पद से इस्तीफा देने का कारण सामने आ चुका है. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के एक अधिकारी ने इस पूर्व दिग्गज खिलाड़ी के साथ बदतमीजी की थी, जिसके चलते उन्होंने इंग्लैंड दौरे से पहले बल्लेबाजी कोच का पद छोड़ दिया.Also Read - एक टेस्ट सीरीज में चार से ज्यादा शतकीय साझेदारियां बनाने वाली पांच धमाकेदार बल्लेबाजी जोड़ियां

एक भरोसेमंद सूत्र ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि यूनिस कुछ दिन के बाद टीम के जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से जुड़ना चाहते थे लेकिन बोर्ड के अधिकारी के साथ हुई बातचीत के बाद इस पूर्व कप्तान ने बल्लेबाजी कोच का पद छोड़ दिया. Also Read - PAK vs ENG: सितंबर में पाकिस्‍तान का दौरा करेगी इंग्लिश टीम, खेले जाएंगे सात टी20 मैच

सूत्र ने कहा, ‘वास्तविक और तथ्यात्मक कारण यह है कि यूनिस ने पीसीबी से आग्रह किया था कि इंग्लैंड दौरे से पहले अनिवार्य रूप से जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से उन्हें कुछ दिन बाद जुड़ने की स्वीकृति दी जाए क्योंकि कराची में उन्हें दांत का जटिल उपचार कराना था.’ Also Read - 10,000 टेस्ट रन क्लब: टेस्ट क्रिकेट में दस हजार रन बनाने का कारनामा कर चुके हैं ये दिग्गज बल्लेबाज

सूत्र ने कहा, ‘यूनिस इंग्लैंड दौरे से पहले हाई परफोर्मेंस सेंटर में अनुकूलन शिविर में हिस्सा लेने तीन दिन के लिए लाहौर आए थे. लेकिन घोषणा हुई कि सभी खिलाड़ियों और अधिकारियों को इंग्लैंड रवाना होने से पहले 20 जुलाई से क्वॉरंटीन में रहना होगा. यूनिस ने आग्रह किया कि पीसीबी उन्हें दांत के इलाज के लिए कराची लौटने और देर से टीम से जुड़ने की स्वीकृति दे.’

सूत्र ने खुलासा किया कि यूनिस ने जिस पीसीबी अधिकारी के साथ बात की उसने उन्हें स्पष्ट तौर पर कहा कि इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के साथ क्वॉरंटीन नियमों को लेकर एमओयू (सहमति पत्र) को देखते हुए वह देर से टीम से नहीं जुड़ सकते और ऐसा करने पर उन्हें इंग्लैंड में सीरीज से बाहर रहना होगा.

उन्होंने कहा, ‘इस बातचीत के दौरान उस समय माहौल गर्म हो गया जब अधिकारी ने यूनिस को कहा कि तो फिर उन्हें सिर्फ वेस्टइंडीज जाना चाहिए क्योंकि इतनी देरी से आए उनके आग्रह को स्वीकार नहीं किया जा सकता.’

सूत्र ने बताया कि इसके बाद यूनिस ने भी आपा खो दिया और पीसीबी अधिकारी को कहा कि यह बेहतर होगा कि वह इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दोनों दौरों पर नहीं जाएं.

सूत्र ने बताया कि बाद में पीसीबी अध्यक्ष अहसान मनी और सीईओ वसीम खान ने भी यूनिस से बात करके मामले को सुलझाने का प्रयास किया लेकिन इस पूर्व कप्तान ने कहा कि वह बल्लेबाजी कोच के पद पर बने नहीं रहना चाहते.