क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने सोमवार को ऐलान किया कि इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली आगामी एशेज (Ashes 2021-22) सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच पर्थ में नहीं खेला जाएगा। बोर्ड को पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के कड़े COVID-19 यात्रा प्रतिबंधों के कारण ये फैसला लेना पड़ा, लेकिन संभावित वेन्यू पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।Also Read - Ashes 2021-22: अंग्रेजों के खिलाफ 152 रन की पारी को ट्रेविस हेड ने बताया करियर बेस्‍ट, 'मैं यकीन नहीं कर पा रहा था'

तस्मानिया के पीटर गुटविन मैच को एशेज के आखिरी टेस्ट को होबार्ट में आयोजित करने के समर्थक रहे हैं। चूंकि ब्लंडस्टोन एरिना में अफगानिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले एकमात्र टेस्ट मेहमान देश में राजनीतिक उथल पुथल के बाद रद्द कर दिया गया था। Also Read - Ashes में इंग्लैंड की हार के लिए आईपीएल को दोष देना बेवकूफी: Kevin Pietersen

मेलबर्न, कैनबरा और सिडनी को भी संभावित वेन्यू के रूप में देखा गया है क्योंकि ये स्पष्ट हो गया था कि पर्थ में आखिरी एशेज टेस्ट का आयोजन नहीं किया जाएगा। Also Read - ICC Test Rankings: टॉप पर पहुंचा ऑस्ट्रेलिया, भारत तीसरे स्थान पर खिसका

टेस्ट क्रिकेट की सबसे पुरानी प्रतिद्वंद्वी सीरीज का आखिरी मैच 14-18 जनवरी को पर्थ के ऑप्टस स्टेडियम में खेला जाना था। 60,000 क्षमता वाले वेन्यू में एक एशेज सीरीज का आयोजन किया है।

हालांकि, पिछले महीने वायरस के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट के उभरने के बाद, वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के मार्क मैकगोवन ने न्यू साउथ वेल्स से इंट्री पर सख्त क्वारेंटीन नियम लागू किए हैं।

उन प्रोटोकॉल के तहत, खिलाड़ियों, उनके परिवारों, साथ ही सिडनी में चौथा टेस्ट (5-9 जनवरी) पूरा होने के बाद पर्थ की यात्रा करने वाले मैच और प्रसारण कर्मचारियों को वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया में आने पर 14 दिनों के कड़े क्वारेंटीन को पूरा करने की जरूरत होगी। मैकगोवन ने कहा, “ये उन पर निर्भर करता है कि वे उन नियमों का पालन करना चाहते हैं या नहीं।”

सीए ने एक बयान में कहा, “जबकि ये सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से हर संभव प्रयास किया गया था कि सीरीज के अंतिम टेस्ट मैच का आयोजन पर्थ में किया जा सके हालांकि बॉर्डर कंट्रोल, क्वारेंटीन नियम और व्यस्त कार्यक्रम में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का आयोजन करने की मुश्किलों की वजह से वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया सरकार और सीए के लक्ष्य एक नहीं हो पा रहे हैं।”

बयान में आगे कहा गया, “इन मुश्किलों का मतलब ये भी है कि वेन्यू के क्रम को बदलने का कोई भी सुझाव संभव नहीं होगा। पांचवें टेस्ट मैच के लिए एक स्थान बदलने के बारे में चर्चा चल रही है।”