नई दिल्ली. आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस ने कहा कि एडिलेड में अपने पदार्पण टेस्ट के दौरान वह अपनी क्षमता के अनुसार नहीं खेल पाए. उन्होंने साथ ही कहा कि भारत जैसी स्तरीय टीम के खिलाफ गलती की कोई गुंजाइश नहीं थी. एडिलेड ओवल में पदार्पण करते हुए दोनों पारियों में समान 26 रन बनाने वाले हैरिस ने कहा, ‘‘आप एक व्यक्ति के रूप में स्वयं पर हमेशा संदेह करते हैं, आप सुनिश्चित नहीं होते कि आप टेस्ट क्रिकेट में फिट होंगे या नहीं. इसलिए दोनों पारियों में क्रीज पर समय बिताना अच्छा था. मैंने बिलकुल भी महसूस नहीं किया कि मैं अपनी क्षमता के अनुसार खेला.’’Also Read - IND vs AUS: कप्तान टिम पेन ने की पुष्टि- ब्रिसबेन टेस्ट में नहीं खेलेंगे चोटिल विल पुकोवस्की, मार्कस हैरिस को मौका

भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ हैरिस का प्लान Also Read - ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट स्क्वाड में शामिल हुए हैरिस ने कहा- भारतीय गेंदबाजी अटैक का सामना करने के लिए तैयार हूं

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मैंने काफी जल्दी महसूस कर लिया कि वे ढीली गेंदबाजी नहीं करने वाले और आप उन्हें जो मौके देंगे वे उसे नहीं गंवाएंगे. इसलिए आपको पहली गेंद से दृढ़संकल्प के साथ खेलना होगा.’’ हैरिस ने कहा, ‘‘मैंने महसूस किया कि मेरा खेल इसके लायक है, संभवत: सही फैसला करना और क्रीज पर लंबा समय बिताने की जरूरत है लेकिन मुझे नहीं लगता कि मैं अपनी क्षमता के अनुसार खेल पाया.’’ Also Read - 'भारतीय तेज गेंदबाजों को खेलना दूर से आसान लगता है, मैं मैदान में घबरा गया था'

अश्विन का रोकेगा रास्ता!

हैरिस को पहली बार में रविचंद्रन अश्विन जबकि दूसरी पारी में मोहम्मद शमी ने आउट किया और इस बल्लेबाज ने कहा कि वह पर्थ टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों से निपटने की योजना पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आर अश्विन के खिलाफ कुछ योजनाओं पर मैंने पहली ओर दूसरी पारी के बीच कड़ी मेहनत की. अब मैं अराउंड द विकेट गेंदबाजी करने वाले गेंदबाजों पर काम कर रहा हूं.’’ आस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट में 31 रन के करीबी अंतर से हार का सामना करना पड़ा था और हैरिस ने कहा कि मेजबान टीम करीबी मुकाबले से आत्मविश्वास लेना चाहेगी और अब दारोमदार शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों पर होगा कि वे निचल क्रम की उम्दा गेंदबाजी से जिम्मेदारी लें.