भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का शानदार फॉर्म पिंक बॉल से खेली जा रही डे-नाइट टेस्ट मैच में भी जारी है. कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डंस में जारी सीरीज के दूसरे और अंतिम टेस्ट मैच के दूसरे दिन शानदार शतकीय पारी खेल कई रिकॉर्ड अपने नाम किए.

ब्रिसबेन टेस्ट: मार्नस लाबुशाने ने जड़ा पहला शतक, ऑस्ट्रेलिया ने 340 रन की बढ़त बनाई

कोहली ने शनिवार को 159 गेंदों पर शतक लगाया जिसमें 12 चौके शामिल हैं।बतौर टेस्ट कप्तान कोहली का ये 20वां शतक है. उन्होंने इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पोंटिंग (19) को पीछे छोड़ा. टेस्ट क्रिकेट में ओवरऑल कोहली ने अपना 27वां शतक पूरा किया. बतौर टेस्ट कप्तान सबसे अधिक शतक जड़ने का विश्व कीर्तिमान दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ के नाम है जिन्होंने कुल 25 शतक लगाए हैं.

डे नाइट टेस्ट में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बने कोहली

कोहली डे-नाइट टेस्ट मैच में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. वैसे टेस्ट क्रिकेट में भारत की ओर से पहला शतक लाला अमरनाथ (1933/34) ने लगाया था. वनडे में सबसे पहला शतक जड़ने का गौरव पूर्व कप्तान कपिल देव (1983) के नाम है. जबकि डे-नाइट वनडे में भारत की ओर से पहला शतक संजय मांजरेकर (1991) ने जड़ा था.


इस मामले में पोंटिंग की बराबरी की

कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट (Tests, ODIs,T20I) में बतौर कप्तान सबसे अधिक सेंचुरी जड़ने के मामले में रिकी पोंटिंग के बराबर पहुंच गए हैं. दोनों के एक समान 41-41 शतक हैं. कोहली ने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए 188 पारियों का सहारा लिया है जबकि पोंटिंग ने यहां तक पहुंचने के लिए 376 पारी खेली थी. इसके बाद ग्रीम स्मिथ (33) और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ (20) का नंबर आता है.

इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक शतक जड़ने के मामले में तीसरे नंबर पर पहुंचे

कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक शतक जड़ने के मामले में तीसरे नंबर पर हैं. उन्होंने 438 पारियों में 70 शतक लगाए हैं. सचिन तेंदुलकर ने 782 और रिकी पोंटिंग ने 668 पारियों में क्रमश: 100 और 71 टेस्ट शतक लगाए हैं.

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 15, 000 हजारी बने चेतेश्वर पुजारा, टेस्ट में पूरे किए कैचों का ‘अर्धशतक’

पहले दिन पूर किए थे बतौर टेस्ट कप्तान सबसे तेज 5,000 रन

कोहली ने इस टेस्ट के पहले दिन बतौर टेस्ट कप्तान सबसे तेज 5, 000 रन पूरे किए थे. इस दौरान भी उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को ही पीछे छोड़ा था.