वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 विश्व कप (T20 World Cup 2021) के मैच में इंग्लैंड को 6 विकेट से जीत दिलाने वाले ऑलराउंडर मोइन अली (Moeen Ali) का कहना है कि चेन्नई सुपर किंग्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग खेलकर उन्हें विश्व कप टूर्नामेंट की तैयारी करने में काफी मदद मिली।Also Read - मुझे ब्रांड भारत ने ही बनाया है, ये देश मेरे दिल के काफी करीब: Dwayne Bravo

प्लेयर ऑफ द मैच रहे अली ने कहा, “सीएसके में भूमिका मेरे लिए वास्तव में अच्छी थी। मैंने वहां काफी सहज महसूस किया। मैं बल्ले और गेंद दोनों से खेल से जुड़ा हुआ था। वहां सेमीफाइनल और फाइनल जैसे बड़े मैच खेलना और फिर विश्व कप में आना बहुत अच्छा है।” Also Read - एक साथ नजर आए महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह; 2011 विश्व कप की यादें ताजा हुई

विश्व कप के सुपर 12 स्टेज में रविवार को दुबई इंटरनेशल स्टेडियम में खेले गए दूसरे मैच में इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को छह विकेट से हरा दिया। Also Read - लगातार खराब प्रदर्शन करने वाली राजस्थान रॉयल्स, पंजाब किंग्स जैसी टीमों में वापस नहीं आना चाहते खिलाड़ी: विटोरी

जॉस बटलर के नाबाद 24 रन की पारी के बदौलत टीम ने एकतरफा जीत हासिल की। हालांकि इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज फ्लॉप साबित हुए। वहीं, वेस्टइंडीज की तरफ से अकेले गेंदबाज अकील हॉसिन ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए 2 विकेट अपने नाम किए।

दूसरी इनिंग की शुरुआत करने उतरी इंग्लैंड की टीम भी लड़खड़ाते हुए दिखाई दी और जल्द ही अपने चार विकेट खो दिए। लेकिन बटलर मैदान में डटे रहे। इसके बाद बटलर ने पोलार्ड की गेंद पर चौका मारकर 8.2 ओवर में लक्ष्य को पूरा कर दिया।

विंडीज टीम के खिलाफ चार ओवर में 17 रन देकर 2 विकेट लेने वाले अली ने मैच के दौरान क्रिस वोक्स के ओवर में इविन लुईस का शानदार कैच भी पकड़ा। उन्होंने कहा, “उस तरह के कैच पकड़ना हमेशा अच्छा होता था, मैंने सीजे (क्रिस जॉर्डन) को दौड़ते हुए देखा और उसे छोड़ने के बारे में सोचा क्योंकि वो मैदान में बहुत तेज है, लेकिन फिर ये मेरी तरफ आया और मैंने कैच पकड़ लिया।”

अली ने आगे कहा, “ये आपको आत्मविश्वास देता है, छक्का पड़ने तक मेरा पहला ओवर भी अच्छा था लेकिन हां ये आपको आत्मविश्वास देता है। टीम में इतने सारे बाएं हाथ के बल्लेबाजों के होने से मदद मिलती है, लेकिन मैं नेट्स में काफी आत्मविश्वास से अच्छी गेंदबाजी कर रहा हूं और जैसा कि मैं क्रिकेट खेल रहा हूं, मैं इतना नर्वस नहीं था।”