भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्ण ने लगातार तीसरी बार ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है जबकि एशियाई चैंपियन पूजा रानी पहली बार खेलों के इस ‘महाकुंभ’ में जगह सुरक्षित करने में सक्षम रहीं. पूजा रानी (75 किग्रा) और विकास कृष्ण रविवार को  एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर के सेमीफाइनल में पहुंचकर इस साल टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया. Also Read - कोविड-19 महामारी के केंद्र रहे चीन को एशियाई युवा खेल 2021 की मिली मेजबानी

ICC Women’s T20 World Cup FINAL, Highlights: भारत का सपना तोड़ ऑस्ट्रेलिया 5वीं बार बना वर्ल्ड चैंपियन Also Read - टोक्यो ओलंपिक 2020 के नए शेड्यूल का हुआ ऐलान, जानिए अब कब आयोजित होगा खेलों का 'महाकुंभ'

चौथी वरीय 29 साल की पूजा ने थाईलैंड की 18 साल की पोर्निपा च्यूटी को 5-0 से और कृष्ण ने तीसरे वरीय जापानी मुक्केबाज सेवोनरेट्स ओकाजावा को सर्वसम्मत फैसले में हराकर एशिया/ओसियाना क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में पदक पक्का किया. टोक्यो ओलंपिक का आयोजन जुलाई-अगस्त में किया जाना है. Also Read - टोक्यो ओलंपिक 2020 के स्थगित होने से महिला जिम्नास्ट दीपा करमाकर को होगा फायदा, जानिए कैसे

‘मैं थोड़ी डरी हुई थी’

जीत के बाद रानी ने कहा, ‘मैं इस मुक्केबाज के खिलाफ नहीं खेली थी, मैं थोड़ी डरी हुई थी. मैंने बाउट से पहले अपने कोचो को इसके बारे में बता दिया था. उन्होंने मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया और मैं एकतरफा नतीजा हासिल कर सकी. मैं खुश हूं.’

रानी का सामना अब मौजूदा विश्व और एशियाई चैंपियन चीन की लि कियान से होगा. शीर्ष वरीय कियान ने दिन के पहले मुकाबले में मंगोलिया की म्यागमारजारगल मुंखबाट को 5-0 से मात दी.

हार्दिक पांड्या की वापसी; दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान

कृष्ण को हालांकि पिछले साल ओलंपिक परीक्षण स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले ओकाजावा के खिलाफ कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. लेकिन उन्होंने लगातार दमदार मुक्कों से अंक जुटाकर 5-0 से जीत हासिल की.