दिग्गज भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का कहना है कि लॉकडाउन के बाद बल्लेबाजों को फिर से लय में आने के लिए लंबे समय तक अभ्यास करने की जरूरत पड़ेगी। फिलहाल कोरोना वायरस महामारी की वजह से क्रिकेट समेत सभी खेलों पर रोक लगी हुई है। Also Read - लॉकडाउन में शेफ बने पुलकित सम्राट, कृति खरबंदा के लिए बनाए 'चीज़ सैंडविच'

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक भारतीय उप कप्तान ने कहा, “बल्लेबाजों को अपने बल्ले का सही स्पॉट ढूंढने में एक-डेढ़ महीना लग जाता है। आंखों और हाथ का संयोजन भी काफी अहम है। इसके पूरी तरह सीध में आने में समय लगता है क्योंकि आप 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे गेंदबाजों का सामना कर रहे हैं।” Also Read - Good News: बॉलीवुड में लौट आई बहार, फिर से शुरु होगी फिल्मों की शूटिंग

रोहित ने आगे कहा, “अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी भी तरह का क्रिकेट होने से पहले हमें अपनी लय में वापस आने के लिए कम के कम एक महीने तक कड़ा अभ्यास करना होगा। हमें अपने बैट को हाथ लगाए तीन महीने से ज्यादा समय हो गया है। ये और भी बढ़ सकता है क्योंकि मुझे नहीं लगता कि लॉकडाउन जल्दी खत्म होगा।” Also Read - 1 जून से ट्रेनों में टीटीई ड्रेस में नहीं आएंगे नजर, नई गाइडलाइंस को रेल यात्री भी जरूर जान लें

लॉकडाउन से पहले रोहित आखिरी बार मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी टी20 मैच के दौरान नजर आए थे। इस मैच में रोहित 60 रनों की शानदार पारी खेलकर चोट की वजह से रिटायर हर्ट हो गए थे। और फिर इसी इंजरी की वजह से रोहित न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे और टेस्ट सीरीज नहीं खेल पाए थे। और जब उनके आईपीएल के दौरान फिट होकर वापसी करने की बारी आई तो कोविड-19 महामारी की वजह से इस टूर्नामेंट को ही स्थिगत कर दिया गया।