नई दिल्ली : भारतीय टीम खेल की तीनों प्रारूप में एक बेहतरीन गेंदबाजी इकाई के रूप में उभरी है. ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट और वनडे सीरीज में गेंदबाजों का अहम योगदान रहा था. टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी प्रवीण कुमार का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम में अलग-अलग शैली के गेंदबाज हैं जिससे टीम को फायदा हुआ है. उन्होंने साथ ही कहा कि इस टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी कॉमपैक्ट है. Also Read - Harbhajan Singh ने सुनाई अपने संघर्ष की प्रेरणात्मक कहानी, याद किया अपने सिलेक्शन का वह दिन

Also Read - India vs England 4th Test: फिर फिरकी के जाल में फंसी इंग्लैंड की टीम, पहले दिन इन 5 मौकों पर टीम इंडिया ने मारी बाजी

प्रवीण ने कहा, “बड़ा जबरदस्त गेंदबाजी आक्रमण है. कोई चाइनामैन है, कोई लेग स्पिनर है. केदार जाधव भी बीच में अच्छा डाल रहे हैं. बात करें मोहम्मद शमी की, भुवी (भुवनेश्वर) की तो इनमें से ऐसा कोई नहीं है जो डेथ ओवरों में गेंदबाजी न कर पाता हो. हमारे चारों-पांचों तेज गेंदबाज डेथ में भी अच्छी गेंद डाल रहे हैं और नई गेंद से भी. बीच के ओवरों में भी अच्छी गेंदबाजी हो रही है. इससे पता चलता है कि एक इकाई के तौर पर यह सभी अच्छा काम कर रहे हैं और इन लोगों के बीच अच्छा तालमेल है.” Also Read - India vs England: जो रूट चाहते हैं भारतीय स्पिनरों का बहादुरी से सामना करें इंग्लिश बल्लेबाज

वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया हुई तैयार, जहीर खान ने बताया किसे मिलेगा मौका

प्रवीण भारत के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की वजह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को बताते हैं. उनके मुताबिक आईपीएल ने गेंदबाजों को काफी कुछ सिखाया है. उन्होंने कहा, “आईपीएल बड़ा प्लेटफॉर्म है. आईपीएल ने गेंदबाजों को काफी कुछ सिखाया, कैसे बचना है, कैसे विकटें लेनी हैं, कैसे डेथ ओवरों में गेंदबाजी करनी है. इससे काफी फर्क पड़ा है. आप भुवी को ही देख लें. 2008 में जब वो आया था, तब मेरे ख्याल में वो 120-122 की स्पीड से गेंद करता था. सभी ट्रेनिंग करते गए, अपने आप को फिट रखते गए. इसका काफी फर्क पड़ा है.”

राहुल के खराब प्रदर्शन से चिंतित नहीं हैं द्रविड़, भारत को बताया वर्ल्डकप का दावेदार

प्रवीण ने भारत के लिए 68 वनडे मैच में 77 विकेट लिए थे. तेज गेंदबाज ने छह टेस्ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. प्रवीण ने अपने घरेलू राज्य उत्तर प्रदेश से आने वाले भुवनेश्वर की तारीफ करते हुए कहा कि वह काफी जल्दी सीखने वाले गेंदबाज हैं. पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, “तब के भुवनेश्वर में और आज को भुवनेश्वर में काफी अंतर है. उन्होंने काफी जल्दी सीखा है. इसका श्रेय उसकी मेहनत को जाता है. उसने मेहनत की, लोगों से बात की. इसी तरह उसने सीखा और अच्छा गेंदबाज बन गया.”

प्रवीण ने जसप्रीत बुमराह की तारीफ करते हुए भी कहा, “बुमराह पहले से ही अच्छे गेंदबाज थे. चाहे वो टेस्ट खेलें या वनडे या चाहे टी-20, हर जगह अच्छा किया है. वह स्लोअर भी अच्छा डालते हैं, बाउंसर भी, यार्कर भी. यह सभी चीजें उन्हें एक कम्पलीट गेंदबाज बनाती हैं.”