नई दिल्ली: वरुण चक्रवर्ती अंजान है क्योंकि आईपीएल में अब तक नहीं खेला. किंग्स इलेवन की कप्तानी 2019 में भी रविचंद्रन अश्विन के हाथों में ही होगी. वे टीम के मुख्य स्पिनर भी हैं. जिम्मेदारी ज्यादा है तो टीम को अश्विन के लिए बैकअप की जरूरत थी. वरुण मिस्ट्री स्पिनर हैं लेकिन अब तक शीर्ष स्तर के कोच का साथ उन्हें नहीं मिला. आईपीएल टीम का हिस्सा बनने से यह कमी पूरी होगी. ये कुछ ऐसे कारण हैं जिसके चलते किंग्स इलेवन पंजाब ने वरुण चक्रवर्ती पर आईपीएल नीलामी में आठ करोड़ 40 लाख की बोली लगाई. इसका खुलासा टीम की सह मालकिन और अभिनेत्री प्रीटि जिंटा ने किया. प्रीति ने तमिलनाडु के इस स्पिनर को ‘दीर्घकालीन निवेश’ और कप्तान रविचंद्रन अश्विन का ‘बैकअप’ करार दिया.

आगामी सत्र में किंग्स इलेवन पंजाब की कमान अश्विन के हाथों में होने की पुष्टि करते हुए प्रीति ने वरुण के लिए इतनी भारी भरकम राशि खर्च करने का कारण बताया. प्रीति ने ईमेल पर दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘वरुण रहस्यमयी गेंदबाज है जो ज्यादा नहीं खेला है. इसके अलावा वह बैकअप स्पिनर है जो टीम को मजबूती देगा. किंग्स इलेवन पंजाब हमेशा से ऐसी प्रतिभा को मौका देना चाहता है जिसे अधिक खेलने का मौका नहीं मिला हो और वरुण हमारे लिए दीर्घकालीन निवेश है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि कोच माइक हेसन के मार्गदर्शन में वह (वरुण) अपनी क्षमता में इजाफा कर पाएगा और टीम की सफलता में योगदान देगा.’’

ऑस्ट्रेलिया ने उठाया विराट के कमर दर्द का फायदा, विकेट के लिए 15 मिनट तक फेंकी ‘छोटी गेंद’

प्रीति को खुशी है कि किंग्स इलेवन की टीम उन खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ पाई जिनकी कमी प्रबंधन ने पिछले साल महसूस की थी. उन्होंने कहा, ‘‘हमने 2019 इंडियन प्रीमियर लीग के लिए काफी विचार विमर्श के बाद रणनीति बनाई. हम ऐसे खिलाड़ियों को चुनना चाहते थे जो कमियों को पूरा कर सकें और बेहतरीन टीम तैयार कर सकें.’’

पिच की जिस ‘हरकत’ पर पुजारा खा गए ‘धोखा’, वो देगी मेलबर्न जीतने का मौका, सचिन ने की भविष्यवाणी

प्रभ सिमरन सिंह जैसे किशोर को रणजी ट्रॉफी खेले बिना ही डेढ़ करोड़ रुपये का अनुबंध मिला लेकिन प्रीति ने कहा कि अगर कोई टैलेंटेड है तो उसका समर्थन किया जाना चाहिए. आम चुनाव के साथ तारीखों के टकराव पर आईपीएल को दक्षिण अफ्रीका में शिफ्ट करने की संभावना पर प्रीति ने कहा कि उनकी टीम किसी भी चुनौती के लिए तैयार है. उन्होंने कहा, ‘‘हम अतीत (2009 में दक्षिण अफ्रीका और 2014 में यूएई में) में इस तरह की स्थिति का सामना कर चुके हैं और आगामी सीजन में भी इसके लिए तैयार हैं.’’ प्रीति ने कहा कि टीम का बैलेंस और कॉम्बिनेशन ऐसा है कि वे भारत या किसी अन्य देश में समान क्षमता के साथ खेल सकते हैं और नतीजे दे सकते हैं.