प्रीमियर बैडिमंटन लीग (पीबीएल) के 5वें सीजन के पहले मैच में पीवी सिंधू की हैदराबाद हंटर्स टीम का सामना चेन्नई सुपरस्टार्स से होगा. सीजन की शुरुआत 20 जनवरी से चेन्नई में होगी. Also Read - बैडमिंटन: थाईलैंड ओपन में भारत का निराशाजनक प्रदर्शन, सभी वर्गों से बाहर

IPL 2020 का फाइनल मुकाबला 24 मई को, मैचों की शुरुआत शाम 7:30 बजे से होना लगभग तय Also Read - Thailand Open 2021: दूसरे दौर में पहुंचे साइना नेहवाल, किदांबी श्रीकांत; पारुपल्ली कश्यप बीच मैच से बाहर

इसके बाद लीग के मैच लखनऊ, हैदराबाद और बेंगलुरू में होंगे. हैदराबाद हंटर्स में जहां सभी की नजरें सिंधू पर होंगी वहीं चेन्नई में युवा लक्ष्य सेन आकर्षण का केंद्र होंगे. लक्ष्य ने पिछले साल 5 इंटरनेशनल खिताब जीते थे और पीबीएल में चेन्नई टीम के साथ वह अपने इसी प्रदर्शन को जारी रखना चाहेंगे. Also Read - Thailand Open 2021: Saina Nehwal और HS प्रणॉय को नहीं हुआ है कोरोना, टूर्नामेंट में लेंगे भाग

24 मुकाबले खेले जाएंगे

21 दिन तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में कुल 24 मुकाबले खेले जाएंगे जिनमें से तीन बार डबल हेडर होंगे. यह तीनों डबल हेडर हैदराबाद में ही होंगे. हैदराबाद में ही सिंधू 31 जनवरी को वर्ल्ड नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जु यिंग से भिड़ेंगी.

INDvSL, 2nd T20: भारत ने जीता टॉस, पहले गेंदबाजी का फैसला

सिंधू ने विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में इस खिलाड़ी को मात दी थी. एक बार फिर दोनों के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है. ताई जु यिंग पीबीएल में बेंगलुरू रैप्टर्स का प्रतिनिधित्व कर रही हैं.

चेन्नई में 5 दिन तक लीग का पहला चरण खेला जाएगा

पीबीएल दो साल के अंतराल के बाद चेन्नई लौट कर आया है ऐसे में यहां के प्रशंसकों को इसका बेसब्री से इंतजार होगा. पांच दिन तक चेन्नई में लीग का पहला चरण खेला जाएगा. इसके बाद दूसरा चरण लखनऊ में होगा जो चार दिन का होगा. तीसरा चरण हैदराबाद में होगा जो सबसे लंबा 10 दिन का होगा.

5 फरवरी से होगी लीग की शुरुआत

बेंगलुरू चौथे चरण की मेजबानी करेगा. इसी चरण में लीग के सेमीफाइनल और फाइनल मैच खेला जाएगा. बेंगलुरू में पांच फरवरी से लीग शुरू होगी और शुरुआती दो दिन लीग चरण के मैच होंगे.

पहला सेमीफाइनल 7 फरवरी और दूसरा सेमीफाइनल 8 फरवरी को खेला जाएगा. फाइनल 9 फरवरी को होगा. गौरतलब है कि पूर्व वर्ल्ड नंबर वन भारत की अनुभवी महिला शटलर साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत लीग से अपना नाम वापस ले चुके हैं.