नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजी औसत का जिक्र करते ही जो नाम अब तक सबसे पहले जुबां पर आता था वो डॉन ब्रैडमैन का होता था. लेकिन अब सर डॉन ब्रैडमैन इतिहास बन चुके हैं. उनका रिकॉर्ड टूट चुका है. छोटे कद काठी वाले 18 साल के भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने टेस्ट में बैटिंग औसत का अब एक नया रिकॉर्ड सेट किया है, जिसके आगे ब्रैडमैन पीछे छूट गए हैं. Also Read - पूर्व इंग्लिश कप्तान का कहना- विदेशी धरती पर भी टेस्ट क्रिकेट में सफल होंगे रोहित शर्मा

Also Read - पृथ्वी शॉ बोले-सचिन सर मुझे तकनीकी पहलू की जगह इस चीज के बारे में बताते हैं

पृथ्वी शॉ में सचिन, सहवाग और लारा की झलक – रवि शास्त्री Also Read - Test Cricket में पांच साल में 11 बल्‍लेबाज कर चुके हैं ओपनिंग, फिर भी फिक्‍स नहीं है जगह, जानें पूरी लिस्‍ट

बल्लेबाजी औसत में शॉ का नया रिकॉर्ड

वेस्टइंडीज के खिलाफ 2 टेस्ट मैचों की सीरीज से पृथ्वी ने टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा और सिर्फ 3 पारियों में वो कर दिखाया जो बड़े बड़े बल्लेबाज नहीं कर सके. उन्होंने 1 शतक और 1 अर्धशतक के साथ 237 रन बनाए, जिसमें उनकी बल्लेबाजी का औसत 118.50 का रहा. पृथ्वी का ये बैटिंग औसत अब वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

ब्रैडमैन छूटे पीछे

शॉ से पहले ये रिकॉर्ड 112 की औसत के साथ वेस्टइंडीज के एंडी गैन्ट्यूम के नाम दर्ज था. जबकि उनसे पहले ब्रैडमैन के नाम था, जिन्होंने टेस्ट में 99.94 की औसत से रन बनाए थे.

विनिंग रन जड़ने वाले सबसे युवा भारतीय

पृथ्वी शॉ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ हैदराबाद टेस्ट की दूसरी पारी में अपनी 33 रन की नाबाद पारी के दौरान विनिंग रन भी जड़े. टेस्ट में ऐसा करने वाले वे भारत के सबसे कम उम्र के बल्लेबाज हैं, जबकि दुनिया में ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस के बाद दूसरे युवा बल्लेबाज. पृथ्वी शॉ को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए अपनी डेब्यू टेस्ट सीरीज में मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया.

भारत के डेब्यूडेंट से हारता है वेस्टइंडीज

कमाल की बात ये है कि वेस्टइंडीज के पिछले 3 टेस्ट सीरीज में जीत के हीरो भारत के डेब्यूडेंट खिलाड़ी ही रहे हैं. साल 2011 में भारत 2-0 से जीता, डेब्यूडेंट अश्विन मैन ऑफ द सीरीज चुने गए. साल 2013 में वेस्टइंडीज जब भारत आया तो उसे 0-2 से हार मिली. इस टेस्ट सीरीज में डेब्यूडेंट रोहित शर्मा मैन ऑफ द सीरीज बने. और , अब 2018 में वेस्टइंडीज के भारत दौरे पर खेली टेस्ट सीरीज में डेब्यूडेंट पृथ्वी शॉ भारतीय क्रिकेट के नए नायक के तौर पर उभर कर सामने आए हैं.