प्रतिबंधित दवा सेवन मामले में बीसीसीआई (BCCI) का लगााया बैन झेल रहे भारतीय सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) जल्द ही क्रिकेट के मैदान पर वापसी करेंगे। दरअसल शॉ को 16 नवंबर से शुरू होने वाले सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट (Syed Mushtaq Ali Trophy) के लिए मुंबई स्क्वाड में शामिल किए जाने की खबर है।

ईएसपीएनक्रिकइंफो के मुताबिक शॉ इस घरेलू टूर्नामेंट का हिस्सा बन सकते हैं। गौरतलब है कि शॉ पर फरवरी-मार्च में खेले गए सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के दौरान ही प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन करने का आरोप था। जिसके लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने 30 जुलाई को उन पर 8 महीने का बैन लगाया था। हालांकि इस बैन को नवंबर से बैकडेट किया गया था। जिस कारण उनका बैन इस महीने की 15 तारीख को खत्म हो जाएगा।

मुंबई क्रिकेट की स्टेट एड-हॉक समिति के सदस्य और पूर्व कप्तान मिलिंग रेगे ने भी कहा है कि शॉ को आगामी टी20 टूर्नामेंट के लिए स्क्वाड में चुना जा सकता है। ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत में उन्होंने कहा, “वो 16 (नवंबर) से खेलने के लिए उपलब्ध हो जाएगा, इसलिए हम जाहिर तौर पर उसके चयन के बारे में सोचेंगे। फिलहाल मैं उसकी वापसी को लेकर कोई ठोस बयान नहीं दे सकूंगा लेकिन उसके चयन पर चर्चा जरूर की जाएगी।”

हार के बाद बांग्लादेशी कप्तान ने कहा- इस पिच पर 180 रन पर्याप्त होते

रेगे ने साफ कहा कि किसी भी खिलाड़ी की जगह स्क्वाड में पहले से पक्की नहीं होती और सभी को जगह पाने के लिए मेहनत करनी होती है। उन्होंने कहा, “उसे फिर से फिट होना होगा, ऐसा कोई नहीं जो टीम में अपनी जगह को पक्का समझे क्योंकि बाकी खिलाड़ी भी हैं। सभी को स्क्वाड में जगह के लिए मेहनत करनी होती है। कुछ सीनियर खिलाड़ी हैं, जिन्होंने पिछले सीजन काफी अच्छा प्रदर्शन किया और इस साल भी खेला लेकिन युवा खिलाड़ी लगातार दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं।”

उन्होंने युवा यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) का उदाहरण दिया जो हाल ही में विजय हजारे और फिर देवधर ट्रॉफी में शानदार बल्लेबाजी करते नजर आए। रेगे ने कहा, “हमारे पास यशस्वी जायसवाल है, जिसने विजय हजारे ट्रॉफी में काफी रन बनाए। उसने 50 ओवर के टूर्नामेंट में एक दोहरा शतक और दो शतक लगाए। ये मुंबई के लिए एक अच्छी स्थिति है लेकिन चयनकर्ताओं के लिए किसी को बाहर करना मुश्किल फैसला होता है।”