नई दिल्ली : टीम इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज में भारत ने 2-0 से जीत हासिल की. इस सीरीज के लिए पृथ्वी शॉ को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया. पृथ्वी शानदार प्रदर्शन करते हुए पहले मैच में शतक और दूसरे मैच में अर्धशतक जड़ा. उन्होंने हैदराबाद टेस्ट मैच की दूसरी पारी में नाबाद 33 रन भी बनाए. इस तरह उन्होंने पदार्पण सीरीज में खुद को बेहतर साबित किया. पृथ्वी ने इस सीरीज में सौरव गांगुली, माइकल क्लार्क और रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों की बराबरी कर ली. Also Read - IPL 2020: 'पावर प्ले के बाद मुझे बड़ी पारी खेलनी चाहिए थी लेकिन मैं हवा में शॉट खेल गया'

Also Read - अच्‍छी शुरुआत के बाद लंबी पारी नहीं खेल पाने का पृथ्‍वी शॉ को है मलाल, बोले- अब अगले मैच पर है फोकस

दरअसल पृथ्वी डेब्यू सीरीज में ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुने जाने वाले 10वें खिलाड़ी हैं. उनसे पहले सौरव गांगुली, माइकल क्लार्क, रोहित शर्मा, रविचन्द्रन अश्विन और मेहदी हसन जैसे खिलाड़ी मैन ऑफ द सीरीज चुने जा सकते हैं. गांगुली ने 1996 में, क्लार्क ने 2006 में, अजंता मेंडिस ने 2008 में, रोहित शर्मा ने 2013 में और रविचन्द्रन अश्वि ने 2011 में यह उपलब्धि हासिल की थी. इनके अलावा वेर्नोन फिलैंडर और जेम्स पैटिनसन भी यह मुकाम हासिल कर चुके हैं. Also Read - DC vs RCB: मैच के दौरान विराट ने किया IPL Protocol का उल्‍लंघन, फिर हाथ उठाकर बोले...

INDvsWI: टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2-0 से जीती टेस्ट सीरीज, पृथ्वी शॉ ‘मैन ऑफ द सीरीज’

‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुने जाने के बाद पृथ्वी ने कहा, यह मेरे लिए खुशी का पल है. टीम इंडिया के लिए मैच फिनिश करना मेरे लिए बड़ी बात है. यह मेरी पहली सीरीज थी और इसमें 2-0 से जीत हासिल करना और फिर मैन ऑफ द सीरीज चुने जाना बेहद खास है. यहां हर खिलाड़ी परिवार की तरह रहे. किसी के बीच जूनियर या सीनियर भावना नहीं रही. यह मेरे लिए काफी अच्छा रहा और अब मेरा ध्यान आगे बढ़ने की ओर है. मुझे यह नहीं पता है कि आगे क्या होने वाला है. इसलिए मैं इस पल को इन्जॉय करना चाहता हूं.